< पानी की समस्या  को लेकर  किसानों ने कलेक्ट्रेट का घेराव किया  Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News जनपद मुख्यालय में पानी की समस्या दूर करने के लिए केन नदी में बाल"/>

पानी की समस्या  को लेकर  किसानों ने कलेक्ट्रेट का घेराव किया 

जनपद मुख्यालय में पानी की समस्या दूर करने के लिए केन नदी में बालू खनन में पोकलैंड  मशीनों के इस्तेमाल पर रोक लगाने की मांग को लेकर बुंदेलखंड किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष विमल शर्मा पिछले 5 दिन से भूख  हड़ताल पर बैठे हैं सोमवार को इसी मांग को लेकर सैकड़ों किसानों ने कलेक्ट्रेट का घेराव कर जल सत्याग्रह का ऐलान किया ।

शहर में पानी की समस्या से लोग परेशान हैं ।इसी समस्या के समाधान के लिए बुंदेलखंड किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष विमल शर्मा ने अपने पदाधिकारियों के साथ ऐतिहासिक अशोक स्तंभ के नीचे 15 मई से भूख हड़ताल शुरू की थी।

लेकिन समस्या दूर करने के बजाय प्रशासन ने अनशन स्थल की बिजली कटवा दी ।फिर भी किसान आंदोलन में डटे रहे, सोमवार को किसानों ने डीएम के घेराव का अल्टीमेटम दे दिया था। जिससे सुबह से ही कचहरी व कलेक्ट्रेट के आसपास भारी पुलिस बल तैनात रहा।

इस बीच किसानों ने अनशन स्थल पर सभा करके प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और आंदोलन को उग्र करने का ऐलान भी किया। दोपहर बाद किसान नेता विमल शर्मा ने अपने सैकड़ों किसानों के साथ कलेक्ट्रेट का घेराव किया और डीएम के खिलाफ नारेबाजी की।

उनके इस आंदोलन को पूर्व सांसद भैरो प्रसाद मिश्रा ने समर्थन किया। प्रदर्शनकारियों ने इस मौके पर एक ज्ञापन देकर जल सत्याग्रह का ऐलान किया ।ज्ञापन में शहर से 10 किलोमीटर दूर तक केन नदी में बालू के खनन पर रोक लगाने की मांग की गई ।

उन्होंने बताया कि पोकलैंड मशीनों से पानी निकालने पर बालू के साथ ट्रक में एक टैंकर पानी निकल जाता है ।वहीं पानी बाद में सड़क मे  बह जाता है ।यदि बालू नदी के बजाय खदानों से निकाली जाए तो पानी की बर्बादी न हो।

ज्ञापन में शहर के आस-पास के गांव में भी पेयजल संकट दूर करने की मांग की गई है।

अन्य खबर

चर्चित खबरें