< हर साल सूखी रहने वाली नदी भीषण गर्मी में भी ओवरफ्लो Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News भीषण गर्मी में मन को सुकून देने वाली यह तस्वीर सुनार नदी है। एक त"/>

हर साल सूखी रहने वाली नदी भीषण गर्मी में भी ओवरफ्लो

भीषण गर्मी में मन को सुकून देने वाली यह तस्वीर सुनार नदी है। एक तरफ जहां बुंदेलखंड की नदियां सूख चुकी हैं, वहीं सुनार अब भी ओवरफ्लो है। पानी के कुशल प्रबंधन के कारण गर्मियों में यह लबालब है। रहली के पुल से ओवरफ्लो का नजारा किसी वाटरफाल से कम नहीं है।

इसका आनंद लेने के लिए रोज शाम को शहर के लोग नदी के तट पर घंटों बिता रहे हैं। नदी के लबालब होने से नदी से सटे किसानों ने गर्मियों की फसलें सब्जियां भी बोई है। नगर में जलसंकट नहीं है। नदी के लबालब होने का मुख्य कारण 
 

70 करोड़ रुपए से बना डेम 

केसली ब्लाॅक में सुनार नदी के मुहाने पर 70 करोड़ से बनाया गया समनापुर डेम है। जहां पर हर साल बारिश का पानी सहेजा जाता है। गर्मियों में इस पानी को छोड़ देते हैं। जिस कारण नदी लबालब हो जाती है। 

कहां से निकली है सुनार 

सुनार का उद्गम स्थान रायसेन और सागर जिले की बार्डर पर बनी पर्वत श्रंखलाओं में है। केसली ब्लाॅक का खैरीकलां गांव और रायसेन की बार्डर पर सिलवानी ब्लाक का घाना गांव के बीच खैदा, बसकरया,बालाबेट नामक पहाड़ियां हैं।

इनके अलावा कई गुमनाम पर्वत श्रंखलाए ऐसी है जो करीब 25 किमी के दायरे में फैली है।ग्रामीण विनोद कुमार, आकाश, संदीप बताते हैं कि खैदा पहाड़ से सुनार नदी निकलतीं है। कुछ दूरी मैदान में तय कर पीपल की जड़ों से धार में परिवर्तित होतीं है। 

225 किमी सफर तय कर केन और व्यारमा में मिलती है सुनार 

सुनार नदी खैदा पहाड से शुरू होकर करीब 10 किलोमीटर रायसेन जिले में बहती है फिर सागर जिले की सीमा से शुरू होकर टड़ा गांव के आसपास तक आते-आते कुछ और नदी-नाले मिलते हैं जिसके बाद केसली से विशाल स्वरूप होता गया है।

गौरझामर, रहली, गढ़ाकोटा, दमोह जिले के पथरिया हटा से होते हुए करीब 215 किलोमीटर का सफर तय करके पन्ना जिले के अमानगंज ब्लाक के पंडोन गांव के पास केन, व्यारमा समेत पांच नदियों के संगम में मिली हैं।

खास बात यह है कि 225 किलोमीटर के सफर में नदी और नाले सुनार में मिले लेकिन उद्गम से मिलन तक सुनार का नाम सुनार ही रहा है। ग्रामीण अशाेक कुमार बतातें है कि अमानगंज के पास पंडान के संगम में सुनार समेत पांच नदियां का मिलन है। 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें