आग का गोला बन बैठी किशोरी, हुई मौत

कर्वी कोतवाली अंतर्गत घर पर खाना बनाते समय आग की चपेट में आई किशोरी गंभीर रूप से झुलस गई। कुछ देर तक वह आग का गोला बनकर इधर-उधर दौड़ती रही। चीख-पुकार सुनकर परिजनों ने आग बुझाकर अस्पताल में भर्ती कराया, जहां दम तोड़ दिया।

कर्वी कोतवाली अंतर्गत गोकुलपुरी शंकर बाजार निवासी फूलचंद्र निषाद की 15 वर्षीय पुत्री शीलू सुबह करीब साढ़े आठ बजे चूल्हे पर खाना बनाने लगी। इसी दौरान किसी तरह वह आग की चपेट में आ गई। घर पर किसी के नहीं होने से आग की चपेट में आई शीलू काफी देर तक इधर-उधर दौड़ती रही।

चीख-पुकार सुनकर पड़ोसियों ने पहुंचकर कंबल डाल आग बुझाई। गल्ला मंडी परिसर में पल्लेदारी करने वाले पिता व मां को सूचना दी। गंभीर हालत में उसे सोनेपुर कलेक्ट्रेट रोड स्थित जिला अस्पताल में भर्ती कराया। वहां इलाज के दौरान शाम साढ़े पांच बजे दम तोड़ दिया।

वह तीन भाई व बहनों में दूसरे नंबर की थी। कक्षा पांच के बाद उसने पढ़ाई छोड़ दी थी। कोतवाली प्रभारी एके सिंह ने बताया कि परिजनों ने सूचना नहीं दी है। कोई शिकायत मिलने पर जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।