< पोस्टमार्टम के लिए 20 घंटे बैलगाड़ी पर रखा रहा शव Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News गौरिहार के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टरों की बड़ी लापर"/>

पोस्टमार्टम के लिए 20 घंटे बैलगाड़ी पर रखा रहा शव

गौरिहार के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही सामने आई है। पोस्टमार्टम के लिए शव 20 घंटे तक बैलगाड़ी पर रखा रहा। शुक्रवार करीब 11 बजे पीएचसी पहरा में पदस्थ डॉ. आलोक प्यासी ने गौरिहार पहुंचकर शव का पीएम किया।गौरिहार पुलिस ने पंचनामा बनाकर शव परिजनों को सौंप दिया।

जानकारी के अनुसार ग्राम कितपुरा निवासी श्रीराम श्रीवास (40) 14 मई को उत्तरप्रदेश के बांदा जिले के नरैनी जा रहा था। रास्ते में नरैनी और पनगरा के बीच अज्ञात ट्रक की चपेट में आकर वह गंभीर रूप से घायल हो गया।उसे बांदा के मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। यहां डाक्टरों ने कानपुर के लिए रेफर कर दिया था।

मृतक के बड़े भाई बैजनाथ श्रीवास ने बताया कि 16 मई दोपहर 2 बजे श्रीराम की मौत हो गई। वे दोपहर साढ़े तीन बजे शव लेकर गौरिहार आ गए। डॉक्टरों के नहीं होने पर 20 घंटे तक इंतजार करना पड़ा।बैजनाथ ने बताया कि उन्होंने प्रभारी बीएमओ डॉ. एस प्रजापति को जानकारी दी थी।

उसके बाद भी शाम तक पीएम नहीं हो सका। दूसरे दिन शुक्रवार को करीब 11 बजे पीएचसी पहरा में पदस्थ डॉ. आलोक प्यासी ने गौरिहार पहुंचकर शव का पीएम किया। इसके बाद गौरिहार पुलिस ने पंचनामा बनाकर शव परिजनों को सौंप दिया।

अन्य खबर

चर्चित खबरें