< एवार्ड वापसी गैंग के सदस्य और समर्थक बुद्धिजीवी अवश्य पढ़ लें। Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News रिकार्ड टूट जाएगा भारत में प्रधानमंत्रियों का। कभी कोयल की कूक म"/>

एवार्ड वापसी गैंग के सदस्य और समर्थक बुद्धिजीवी अवश्य पढ़ लें।

रिकार्ड टूट जाएगा भारत में प्रधानमंत्रियों का। कभी कोयल की कूक मिलेगी तो कभी कौए की कांव मिलेगी। कभी कोई सिंयार की तरह हुआ हुआ करेगा और फिर कोई रात में कुत्तों की बांग की तरह रोते हुए आवाज देगा कि आओ रे प्रधानमंत्री बनना है।

अरे यूं क्यों नहीं करते सारे एक साथ शपथ ग्रहण ले लो प्रधानमंत्री पद की और बस सारे प्रधानमंत्री मिलकर खोओगे पियो . ........ मस्त रहोगे। उनको भी प्रधानमंत्री बना दो जो तुम्हारे लिए मोदी को आतंकी कह देते हैं और ममता बनर्जी में हिटलर देखने के वक्त सूरदास , सूरदासी हो जाते हैं और ऊपर से बुद्धि विवेक से हीन हो जाते हैं।

भई उनकी सारी मानवता की बात मोदी और शाह के इर्द-गिर्द घूमती है। शेष पश्चिम बंगाल में कोई मरता है तो मरे ; अतः इनको भी राज्यसभा से सदस्य मनोनीत कर प्रधानमंत्री बना लो। शेष को कम ज्यादा बोलने की श्रेणी से आरक्षण देकर प्रधानमंत्री बना लो। 

नहीं तो एक काम करो संविधान में संशोधन कर दो कि मोदी ना आए दोबारा इस शर्त में संविधान का संशोधन कर हम सभी सदस्य प्रधानमंत्री बनकर रहेंगे। समझ लो जनता कि इनसे क्या हो पाएगा ? ये ममता बनर्जी को आतंकी नहीं कह पाते / पाती हैं। पूरे पश्चिम बंगाल में आतंक फैला दिया पर निष्पक्षता के बाबू साहेब बुआ के मंच में सज्जन कुमार बनकर खड़े थे। 

ओहो यही तो हैं सबसे चर्चित निष्पक्षता के राज दुलारे और ऊपर से पीड़ित , बस इनको भी बना देना जरा प्रधानमंत्री। अरे एक मिनट को सही बेचारे ने बड़ी मेहनत की है तुम्हारे लिए। एकतरफा बैटिंग और बार बार हवाला देते थे कि मैं कांग्रेस के खिलाफ भी बोलता रहा जब वो सरकार मे थे। 

हमें बेवकूफ समझा है ? समझते नहीं साफ्ट हिन्दुत्व बनाम कट्टर हिन्दुत्व , सुनो कांग्रेस के खिलाफ बोलना तुम्हारा साफ्ट हिन्दुत्व था जो बतौर पत्रकार बनता था। किन्तु भाजपा और मोदी के खिलाफ तुम्हारा कट्टर हिन्दुत्व था जो तुम्हारी आत्मा समझती है। शेष तो तुम इतने माईक के लाल हो कि अपने भाई के खिलाफ पीड़िता के पक्ष मे नहीं खड़े हो सके। 

खैर भारत अपना भाग्य स्वयं तय करेगा। चूंकि मैं विभाजन की असली कहानी भी पढ़ रहा हूँ फिर एक बार अमेरिका से लेकर ब्रिटेन और गुलाम भारत के साथ पाकिस्तान निर्माण एवं कश्मीर समस्या तक तत्कालीन कांग्रेस की नाकामयाबियों पर शाब्दिक पोस्टमार्टम कर दूंगा।तब तक आप प्रधानमंत्री बनने का ख्वाब देखते रहिए। चूंकि भारत अपना भाग्य तय कर चुका है।

About the Reporter

  • सौरभ चन्द्र द्विवेदी

    समाचार विश्लेषक के रूप में बुन्देलखण्ड के मुद्दों पर पैनी नजर रखने में माहिर हैं सौरभ द्विवेदी। विगत 10 वर्षों से भी अधिक समय से पत्रकारिता से जुड़े रहकर समाज व राजनीति पर सैकड़ों लेख लिखे और विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित भी हुए।, स्नातक

अन्य खबर

चर्चित खबरें