< 40 साल पुरानी जर्जर लाइन से हो रही बिजली आपूर्ति Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News जिले में 40 साल पुरानी जर्जर बिजली लाइनों के भरोसे बिजली आपूर्ति "/>

40 साल पुरानी जर्जर लाइन से हो रही बिजली आपूर्ति

जिले में 40 साल पुरानी जर्जर बिजली लाइनों के भरोसे बिजली आपूर्ति की जा रही है। सालों गुजर जाने के बाद भी पुरानी बिजली लाइनों को न बदले जाने से बिजली के तार पतले हो गए है। जिससे आए दिन तार टूटकर गिर जाते हैं। जिससे राहगीरों को जान का खतरा बना रहता है।

बावजूद इसके आज तक महकमे ने पूरे शहर में इंसुलेटेड बिजली लाइन नहीं बिछाई है। गौरतलब है कि शहर के कई स्थानों पर 40 से 50 साल पुरानी बिजली लाइन आज भी बिछी हुई है। लाइन बेहद पुरानी हो जाने के कारण इनके तार काफी पतले हो चुके है।

तारों को टूटने से बचाने के लिए महकमे ने तारों पर लकड़ी की कमटी बांध दी है। जिससे बिजली लाइन लकड़ी की कमटी के सहारे चल रही है। जर्जर बिजली लाइन लोगों के लिए खतरा बनी हुई है। तेज आंधी में पतले तार एक-दूसरे से टकराते ही स्पार्किंग होने पर टूटकर नीचे आ जाते हैं।

बिजली विभाग द्वारा शहर के कुछ मार्गों और गलियों में इंसुलेटेड बिजली लाइन बिछाई गई है जबकि अभी भी आधे शहर में वर्षों पुरानी जर्जर बिजली लाइन के सहारे बिजली आपूर्ति की जा रही है। वहीं इंसुलेटेड बिजली लाइन न बिछाए जाने से लोग कटिया डालकर भी बिजली की चोरी कर रहे हैं।

भीषण गर्मी में बिजली की खपत बढ़ जाने के कारण कम क्षमता के ट्रांसफार्मर अधिक लोड पड़ने के कारण आए दिन धड़ाम हो जाते हैं। इससे बिजली आपूर्ति ठप हो जाती है। महकमे द्वारा गर्मी के मौसम में भी कम क्षमता के ट्रांसफार्मरों से काम चलाया जा रहा है जबकि ज्यादातर ट्रांसफार्मर लोड न ले पाने के कारण फुंक जाते हैं।

शहर में कई स्थानों पर सड़कों से सटाकर रखे गए ट्रांसफार्मर लोगों के लिए खतरा बने हुए हैं। कभी वाहन असंतुलित होकर ट्रांसफार्मर से टकरा सकता है। जिससे बड़ी घटना घट सकती है। शहर में मदीना मस्जिद रोड पर तहसील चौराहे के पास, शहर के मुख्य मार्ग में डाकघर के पास, गुरुद्वारे के सामने, हाईवे में मजबूत सिंह के मकान के पास, विद्या मंदिर के सामने सड़क से सटे खुले ट्रांसफार्मर लगे हुए है।

 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें