< मोमबत्ती जला कर लेडी विद द लैंप को याद किया Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News जिला चिकित्सालय में रविवार को नर्स डे मनाया गया। जिसमें समस्त ज"/>

मोमबत्ती जला कर लेडी विद द लैंप को याद किया

जिला चिकित्सालय में रविवार को नर्स डे मनाया गया। जिसमें समस्त जिला चिकित्सालय पुरुष की नर्स मौजूद रहीं। उन्होंने फ्लोरेंस नाइटेंगल का जन्म दिन केक काटकर मनाया। इस दौरान स्टाफ नर्सो ने फ्लोरेंस नाइटेंगल की प्रतिमा के सामने मोमबत्ती भी जलाई। सीनियर नर्सो ने नर्सेस डे के महत्व के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

स्टाफ नर्सो ने फ्लोरेंस नाइटेंगल के जीवन के बारे में बताया। इनका जन्म 12 मई 1820 में हुआ था और उनकी मृत्यु 13 अगस्त 1910 में हुई थी। उन्होंने नर्सिंग क्षेत्र में अपना अहम योगदान दिया। उन्होंने मरीजों की सेवा श्रद्धा एवं निष्ठापूर्वक की। इस मौके पर जिला चिकित्सालय पुरुष वार्ड की नर्स कृष्ण कुमारी सिस्टर, पदमा सचान, शिव कुमारी, सूरजमुखी, सीता, सोनी, डाली खान, श्रद्धा राजपूत, सर्वेश कुमारी, रिशू त्रिपाठी, कौशल सचान, ईशा खान एवं समस्त स्टाफ मौजूद रहा।

महिला अस्पताल में भी नर्स डे धूमधाम के साथ मनाया गया। सभी लोगों ने फ्लोरेंस नाइटेंगल की प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हुए उनके जीवन चरित्र के बारे में विस्तार से चर्चा की। बताया गया कि इनको लेडी विद द लैंप के नाम से भी जाना जाता था। मंजूलिका, रमाकांती, विनीता, राधा, स्वर्णिमा, पूनम, सोनी, सोनिका, विनीता, संतोषी, ज्योति, स्वाती, अन्नपूर्णा, रश्मी, ललिता समेत तमाम लोग उपस्थित रहे। सीनियर स्टाफ नर्स मंजूलिका कटियार ने बताया फ्लोरेंस नाइटेंगल को आधुनिक नर्सिंग आंदोलन का जन्मदाता माना जाता है। इनके जन्म के दिन नर्सिग डे मनाया जाता है।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें