< गांव में तेंदुए की दस्तक, पांच घंटे से पेड़ पर बैठा रहा Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News जिले के बमनौरा थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम गुंजौरा में जंगल स"/>

गांव में तेंदुए की दस्तक, पांच घंटे से पेड़ पर बैठा रहा

जिले के बमनौरा थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम गुंजौरा में जंगल से आए तेंदुए से लोग भयभीत हैं। लगभग पांच घंटे से तेंदुआ गांव के समीप विशाल पेड़ की ऊंचाई पर बैठा हुआ है। वन विभाग के अधिकारियों की टीम मौके पर पहुंच गई है, लेकिन अब टीम उसे नीचे उतारने में असफल साबित हुई। अब वन विभाग को रात होने का इंतजार है।प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के रामटौरिया के निकट स्थित ग्राम गुंजौरा में दोपहर के करीब 1 बजे जंगल की ओर भटकते हुए तेंदुए ने दस्तक दी।

वह चुपके से आया और गांव के नजदीक लगे एक गूलर के विशाल पेड़ की शिखा पर छांव में जाकर बैठ गया। दोपहर के वक्त एक चरवाहा पेड़ से कुछ लकड़ियां तोड़ने के लिए जब पेड़ पर चढ़ा तो तेंदुए को देखकर उसके हाथ-पैर फू ल गए। भागकर उसने गांव में तेंदुआ आ जाने की खबर दी। तबसे दहशत का वातावरण निर्मित हो गया।गांव में तेंदुआ जाने की सूचना मिलते ही बकस्वाहा रेंज के अनुविभागीय वन अधिकारी केबी गुप्ता, बड़ामलहरा वन परिक्षेत्र अधिकारी कृष्णा वर्मा, डिप्टी रेंजर घुवारा माधव शुक्ला, डिप्टी रेंजर बड़ामलहरा सतीश पटैरिया, वन रक्षक रामेश्वर शर्मा, ऋषि दुबे, धर्मेंद्र तिवारी, विनोद शर्मा, रामकृपाल मिश्रा, भागीरथ रैकवार, मुसीम खान मौके पर पहुंचे और उसे नीचे उतारने का प्रयास किया, लेकिन सारे प्रयास असफल साबित हुए।

ग्राम गुुंजौरा के गूलर के पेड़ पर चढ़े तेंदुआ से जहां दहशत का वातावरण निर्मित है तो वहीं वन विभाग की टीम मौके के पहुंचते ही सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण भी वहां एकत्र हो गए। लाठियों से लैस ग्रामीणों के बीच वन अधिकारियों ने तमाम जतन किए, लेकिन उसे पेड़ से नीचे लाने में सफलता नहीं मिल सकी। वन अधिकारियों का कहना है कि ग्रामीणों की भारी भीड़ देखकर वह पेड़ पर है, लेकिन जैसे ही रात के अंधेरे में माहौल शांत होगा, वह उतरकर जंगल की ओर चला जाएगा।

अन्य खबर

चर्चित खबरें