< पहले मतदान, फिर जलपान का बच्चों ने दिया संदेश Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News दीनदयाल शोध संस्थान द्वारा संचालित रामनाथ आश्रमशाला परिसर में "/>

पहले मतदान, फिर जलपान का बच्चों ने दिया संदेश

दीनदयाल शोध संस्थान द्वारा संचालित रामनाथ आश्रमशाला परिसर में से चल रहे व्यक्तित्व विकास शिविर का समापन हो गया। दो राज्यों के आठ जिलों के 248 छात्र-छात्राओं द्वारा सीखी गई कलाओं के प्रदर्शन, सांस्कृतिक संध्या के साथ शिविर का समापन हुआ। शिविर में सभी प्रशिक्षित बच्चों ने योग और प्राणायाम का नियमित अभ्यास किया। योग दिवस के अवसर पर यह सभी बच्चे अपने-अपने गांव में लोगों को प्रशिक्षित कर सामूहिक योग प्रदर्शन भी करवाएंगे। डीआरआई के रामनाथ आश्रमशाला में व्यक्तित्व विकास शिविर के समापन कार्यक्रम की शुरूआत भालेन्द्र सिंह ने महापुरूषों के चित्रों में माल्यार्पण के साथ किया। शिविराधिकारी जितेन्द्र सिंह, बबिता सिंह ने संपूर्ण शिविर की आख्या प्रस्तुत की। बच्चों द्वारा सरस्वती वंदना के बाद विविध शारीरिक कलाओं में प्रशिक्षण प्राप्त किए बच्चों ने अपनी कला का प्रदर्शन किया।

शारीरिक प्रदर्शन को देखकर रामनाथ आश्रमशाला विद्यालय का खेल प्रांगण तालियों की गडगडाहट से गूंज उठा। प्रस्तुतियों के क्रम में हारमोनियम, ढोलक, वाद्ययंत्रों के प्रदर्शन के साथ बच्चों ने सामूहिक देश गान एवं नृत्य, पहले मतदान फिर सारे काम आदि प्रस्तुतियों ने सबका मन मोह लिया। मुख्य अतिथि भालेन्द्र सिंह ने कहा कि नानाजी देशमुख ने ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चों के सर्वांगीण विकास एवं ग्रीष्मावकाश में उनके मनोंरजन के लिए वर्ष 2001 में इस व्यक्तित्व विकास शिविर का शुभारंभ किया था। इस शिविर के माध्यम से चित्रकूट क्षेत्र की 50 किमी. परिधि के बच्चे कुशल प्रशिक्षकों के मार्गदर्शन में विविध कलाओं में दक्ष होकर शिविर से जाने के बाद अपने गांव एवं आसपास के बच्चों को सीखी गई विविध कलाओं का प्रशिक्षण देते हैं। अध्यक्षता कर रहे संत मदन गोपाल दास ने पर्यावरण संरक्षण के बारे में बच्चों का मागदर्शन करते हुए कहा कि सभी सदैव स्वस्थ्य रहे, व्यस्त रहे, मस्त रहें। कार्यक्रम का संचालन रामदत्त पांडेय ने किया। आभार धीरेन्द्र सिंह ने जताया। इस मौके पर चित्रकूट के गणमान्य नागरिक, छात्र-छात्राओं के अभिभावक, डीआरआई के संगठन सचिव अभय महाजन, बसंत पंडित, डा. अनिल जायसवाल के अलावा साथ सभी प्रकल्पों के कार्यकर्ता मौजूद रहे।

About the Reporter

  • आशीष उपाध्याय

    चित्रकूट जनपद में ग्राम भौंरी निवासी आशीष उपाध्याय चित्रकूट के जिला संवाददाता हैं। पत्रकारिता में लगभग 6 वर्षों का अनुभव और किसी भी मुद्दे पर तत्काल प्रतिक्रिया ने इन्हें चित्रकूट की पत्रकारिता में खासा लोकप्रिय कर दिया है। , स्नातक

अन्य खबर

चर्चित खबरें