< भाजपा से बगावत कर जीतू जी निर्दलीय चुनाव मैदान में कूदे Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News भारतीय जनता पार्टी के पूर्व अध्यक्ष और जिला कार्यकारिणी के सदस"/>

भाजपा से बगावत कर जीतू जी निर्दलीय चुनाव मैदान में कूदे

भारतीय जनता पार्टी के पूर्व अध्यक्ष और जिला कार्यकारिणी के सदस्य आशोक त्रिपाठी जीतू ने सोमवार को पार्टी से बगावत करते हुए अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। इस मौके पर उन्होंने कहां कि मैं  कार्यकर्ताओं के सम्मान में चुनाव मैदान में आया हूँ। आज ही भाजपा के उम्मीदवार आर.के सिंह पटेल ने दूसरा सेट दाखिल किया।

नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद उन्होंने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि मैं पार्टी के जिला अध्यक्ष सहित कई पदों में रहा हूं इसी साल अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष पद से भी निवृत्त हुआ हूँ। बगावत कर के चुनाव मैदान में कूदने के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि पार्टी में कार्यकर्ताओं की उपेक्षा हो रही है अटैची संस्कृति चल रही है, कार्यकर्ताओं का सम्मान बचाने के लिए किसी ना किसी  को विरोध करके शहीद होना पड़ेगा मैं कार्यकर्ताओं के सम्मान में चुनाव मैदान में आगया हूँ।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मैं फिलहाल अभी भाजपा में हूँ। आज नामांकन के बाद गाज गिर सकती हैं। यह भी कहा कि मुझे मनाने के लिए पार्टी के सीनियर नेताओं ने बातचीत की है लेकिन कोई ठोस आधार नजर नहीं आया जिससे मैं चुनाव मैदान में आ गया।

उन्होंने  कहा कि मैं राजनीतिक दलों की तरह एक निर्दलीय प्रत्याशी होने के नाते 18 अप्रैल को अपनी शक्ति का प्रदर्शन कर नामांकन पत्र  का दूसरा सेट दाखिल करूंगा। बताते चले कि आलोक त्रिपाठी जीतू 1971 में जनसंघ से चुने गए सांसद राम रतन शर्मा के सुपुत्र हैं, चुनाव मैदान में कोई ब्राह्मण प्रत्याशी ना होने से ब्राह्मण वर्ग खासा नाराज था अब अगर जीतू जी भाजपा प्रत्याशी के के खिलाफ ताल ठोकेंगे तो  निश्चित ही भाजपा प्रत्याशी की मुसीबत बढ़ जाएगी इधर आज भाजपा प्रत्याशी आर के सिंह पटेल ने तामझाम के साथ दूसरा नामांकन सेट दाखिल किया।
 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें