सरकारी डॉक्टरों ने प्राइवेट प्रैक्टिस बंद नहीं की तो सरकार उठायेगी कठोर कदम: स्वामी प्रसाद मौर्य

उतर प्रदेश के श्रम सेवायोजन नगरीय रोजगार और गरीबी उन्मूलन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बार-बार निर्देशों के बाद भी सरकारी डॉक्टरों ने यदि प्राइवेट प्रैक्टिस बंद नहीं किया तो सरकार उनके खिलाफ कठोर कदम उठाएगी। यह बात आज उन्होंने अपने सुल्तानपुर दौरे के दौरान कही । 
 
उन्होंने कहा कि श्रमिकों के खाने पीने ठहरने और उनके इलाज के लिए दवाओं की नि:शुल्क व्यवस्था सरकार शीघ्र करेगी। श्रमिकों के मेधावी छात्रों को शिक्षा सहायता योजना से मदद जल्द ही शुरू ही जाएगी। मौर्य ने सुल्तानपुर में नव निर्मित ट्रामा सेंटर के निर्माण के दो वर्षो बाद भी शुभारम्भ न होने के मामले की जांच के निर्देश दिए।
 
आपको बता दें कि इस समय बुन्देलखण्ड में सरकारी डॉक्टर सबसे ज्यादा प्राइवेट प्रेक्टिस करते हैं और उन्हें किसी का कोई डर भी नही है । प्राइवेट प्रेक्टिस के कारण ऐसे तमाम डॉक्टर गरीबों का सही से इलाज नही करते और उन्हें भी अपने प्राइवेट नर्सिंग होम में ही इलाज के लिए बुलाते हैं । फ़िलहाल इसका सबसे ज्यादा असर चित्रकूट धाम मंडल (चित्रकूट , बाँदा ,हमीरपुर , महोबा) मे स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है । 

About the Reporter

  • अनुज हनुमत

    5 वर्ष , परास्नातक (पत्रकारिता एवं जन संचार)

अन्य खबर



चर्चित खबरें