< डीएम-एसपी ने अतिसंवेदनशील बूथों की देखी व्यवस्थायें Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News लोकसभा सामान्य निर्वाचन निष्पक्ष, शान्तिपूर्ण व भयमुक्त सकुशल "/>

डीएम-एसपी ने अतिसंवेदनशील बूथों की देखी व्यवस्थायें

लोकसभा सामान्य निर्वाचन निष्पक्ष, शान्तिपूर्ण व भयमुक्त सकुशल सम्पन्न कराये जाने के उद्देश्य से तहसील मानिकपुर के संवेदनशील, अति संवेदनशील बूथो का जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी विशाख जी. व पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार झा ने औचक निरीक्षण किया।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने प्राथमिक विद्यालय नागर बूथ संख्या 369, प्राथमिक विद्यालय लक्ष्मणपुर बूथ संख्या 370, प्रावि कल्याणपुर बूथ सं 368, प्रावि तरौंहा बूथ सं 361, प्रावि गोपीपुर बूथ सं 360, प्रावि डुडैली बूथ सं 345, प्रावि चरिहाखुर्द बूथ सं 357 पूर्व प्रावि डोडामाफी बूथ सं 351, 352 का निरीक्षण किया।

उन्होंने सभी बूथो पर मतदान स्थल की स्थिति, पहुॅच मार्ग, पेयजल, शौचालय, रैंप, फर्नीचर, विद्युत, 18 से 19 वर्ष के नये मतदाता, महिला मतदाता, कुल मतदाता आदि के संबंध मे जानकारी संबंधित बूथ लेबिल आफीसरों से ली। उन्होंने खण्ड विकास अधिकारी को निर्देश दिये कि नागर व गोपीपुर में पेयजल की समस्या, लक्ष्मणपुर में शौचालय, कल्याणपुर में रैंप, डुडैली मे रैंप व पेयजल की व्यवस्था ठीक न होने पर संबंधित ग्राम प्रधान व सचिव को निर्देश दे कि तत्काल हैंडपंप रिबोर व रैंप आदि का निर्माण कार्य करा दें।

उन्होंने कहा कि बूथों पर सभी सुविधाये रहनी चाहिये और उप जिलाधिकारी व खण्ड विकास अधिकारी सभी बूथों का निरीक्षण अवश्य कर लें।     निरीक्षण के दौरान उप जिलाधिकारी मानिकपुर संगमलाल, खण्ड विकास अधिकारी शेर बहादुर सिंह, थानाध्यक्ष मानिकपुर, मारकुण्डी सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।                 

शिकायत, सहायता को कंट्रोल रूम स्थापित

चित्रकूट। उप जिलाधिकारी 237 मानिकपुर विधान सभा क्षेत्र तहसील मऊ ने बताया कि 237 मानिकपुर विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओ को सूचित किया जाता है कि आयोग द्वारा आदर्श आचार संहिता कर दिया गया है जिसके तहत आप सभी की एमसीसी (आचार संहिता के उल्लंघन) एवं मतदाता सूची से संबंधित समस्याओं, शिकायतों के लिए सहायता केन्द्र (कन्ट्रोल रुम) बनाया गया है। जिसका हेल्पलाइन नम्बर 9517057892 है। जिसमें शिकायत 24 घण्टे दर्ज करवा सकते हैं। शिकायत दर्ज करने को पूजा ओझा व रन्नू देवी सुबह 8 बजे से सायं 4 बजे तक, घनश्याम तिवारी संग्रह अमीन व राजाराम नजारत चपरासी को सायं 4 बजे से रात्रि 12 बजे तक, राममिलन संग्रह अमीन व देवशरण संग्रह सेवक की रात्रि 12 बजे से सुबह 8 बजे तक कर्मचारियों की ड्यूटी लगायी गयी है।   

11 वैकल्पिक फोटोयुक्त दस्तावेज से कर सकते हैं मतदान

संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डा अल्का वर्मा ने बताया कि 28 फरवरी के प्रस्तर-4 की ओर से आकृष्ट कराते हुए बताया कि आसन्न लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2019 के संदर्भ में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा फोटोयुक्त मतदाता पर्ची के संबंध निर्देश दिये गये हैं कि मतदाना के लिए फोटो मतदाता पर्ची को स्टैंड-अलोन पहचान दस्तावेज के रुप में स्वीकार नही किया जायेगा।

हांलाकि फोटो मतदाता पर्ची को तैयार करना जारी रखा जायेगा और जागरुकता बढाने के प्रयास के एक हिस्से के रुप में मतदाताओं केा जारी किया जायेगा। मतदाताओं को यह स्पष्ट करने के लिए कि मतदान के लिए फोटो मतदाता पर्ची को एक स्टैंड-अलोन पहचान दस्तावेज के रुप में स्वीकार नही किया जायेगा तथा ये शब्द इस पर्ची को मतदान केन्द्र में पहचान के उद्देश्य के लिए स्वीकार नही किया जाएगा।

मतदान के लिए निर्वाचन फोटो पहचान पत्र में पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेन्स, राज्य, केन्द्र सरकार के लोक उपक्रम, पब्लिक लिमिटेड कम्पनियों द्वारा अपने कर्मचारियों को जारी किए गये फोटोयुक्त सेवा पहचान पत्र, बैंको, डाकघरों से जारी की गई फोटोयुक्त पासबुक, पैनकार्ड, एनपीआर के अंतर्गत, आरजीआई द्वारा जारी किए नए स्मार्ट कार्ड, मनरेगा जाॅब कार्ड, श्रम मंत्रालय की योजना के अन्तर्गत जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, फोटोयुक्त पेंशन दस्तावेज, सांसदो, विधायकों, विधान परिषद सदस्यों को जारी किए गए सरकारी पहचान पत्र, आधार कार्ड, आयोग द्वारा निर्दिष्ट 11 वैकल्पिक दस्तावेजों मे से एक अपने साथ अवश्य लांए।

बड़े अक्षरों में फोटो मतदाता पर्ची पर मुद्रित किया जायेगा। फोटो मतदाता पर्ची का मुद्रण जारी रहेगा। अगर निर्वाचक कोई ऐसा निर्वाचक फोटो पहचान कार्ड प्रस्तुत करते हैं जो दूसरे विधान सभा निर्वाचन-क्षेत्र के निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी द्वारा जारी किया गया हो तो ऐसे कार्ड भी पहचान के लिए स्वीकृत किए जायेेंगे बशर्तें उस निर्वाचक का नाम उस मतदान केन्द्र से संबंधित निर्वाचक नामावली में मौजूद हो जहां निर्वाचक मतदान करने उपस्थित हुए हैं।

अगर फोटोग्राफ आदिद के बेमेल होने की वजह से निर्वाचक की पहचान स्थापित करना संभव नही हो तो निर्वाचक को आदेश मे उल्लिखित वैकल्पिक फोटो दस्तावेजो में से एक पेश करना होगा। प्रवासी निर्वाचकों को पहचान के लिए केवल अपना मूल पासपोर्ट प्रस्तुत करना होगा। सामान्य जनता एवं निर्वाचको की जानकारी के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया जाएगा।

उक्त साधारण निर्वाचन में निर्वाचन लड़ने वाले सभी अभ्यर्थियों को आयोग के इस निर्देश से लिखित रुप से अवगत कराया जाए। रिटनिंग अधिकारियों को अनुरोश दिए जाएंगे कि व इस आदेश की विवक्षाएं नोट करें और विशेष ब्रीफिंग के माध्यम से सभी पीठासीन अधिकारियों को उसकी विषय वस्तु से अवगत करायें। उन्हें यह भी सुनिश्चित कराना चाहिए कि इस पत्र की एक प्रति निर्वाचन क्षेत्र के सभी मतदान केन्द्रो, बूथो में उपलब्ध हों।   
 

About the Reporter

  • राजकुमार याज्ञिक

    चित्रकूट जनपद के ब्यूरो चीफ एवं भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के जिलाध्यक्ष राजकुमार याज्ञिक चित्रकूट जनपद के एक वरिष्ठ पत्रकार हैं। पत्रकारिता में परास्नातक श्री याज्ञिक मुख्यतः सामाजिक व राजनीतिक मुद्दों पर अपनी गहरी पकड़ रखते हैं।, .

अन्य खबर

चर्चित खबरें