?> पत्नी के बाबा की हत्या में 20 साल का कठोर कारावास, 40 हजार जुर्माना बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ शराब का लती ट्रक चालक ने मायके से पत्नी की विदा कराने में रोड़ा बन"/>

पत्नी के बाबा की हत्या में 20 साल का कठोर कारावास, 40 हजार जुर्माना

शराब का लती ट्रक चालक ने मायके से पत्नी की विदा कराने में रोड़ा बने उसके बाबा को पेट्रोल डालकर जला दिया। इससे उसकी मौत हो गई। इस मामले की सुनवाई करते हुए अदालत ने अभियुक्त को 20 वर्ष के कठोर कारावास के साथ 40 हजार रुपये के अर्थदंड की सजा सुनाई है। मामले की पैरवी कर रहे सहायक शासकीय अधिवक्ता आनंद कुमार सक्सेना ने बताया कि थाना सुमेरपुर के गांव बांकी निवासी जयकरन यादव ने अपनी पुत्री लक्ष्मी की शादी थाना जलालपुर खंडौत गांव निवासी अभियुक्त अशोक यादव पुत्र हरीमोहन यादव के साथ की थी। जिसके तीन बच्चे है। दो बच्चे अपनी मां लक्ष्मी के साथ बांकी में थे। तीसरा बच्चा अपने बाबा हरीमोहन के साथ रहता है।

अभियुक्त अशोक यादव ट्रक ड्राइवर था जो शराब पीकर अपनी पत्नी लक्ष्मी के साथ मारपीट करता था। जिसकी शिकायत लक्ष्मी ने अपने बाबा देवीदयाल व अपने पिता जयकरन से की थी। जिस पर लक्ष्मी को उसका पिता जयकरन अपने गांव बांकी ले गया था। पत्नी को लेने अशोक यादव बांकी गया तो लक्ष्मी के बाबा देवीदयाल ने नातिन को भेजने से मना कर दिया। इस बात को लेकर अशोक लक्ष्मी के बाबा से रंजिश मानने लगा। 27 जुलाई 2015 को रात 11 बजे देवीदयाल अपने घर के दरवाजे पर सोया था। तभी अभियुक्त अशोक यादव ने देवीदयाल पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी। आग के जलने पर देवीदयाल की चीख पुकार सुनकर लोग जाग गए। पास में सो रहे जयकरन ने अशोक यादव को भागते हुए देखा था। 28 जुलाई 2015 को जिला अस्पताल में देवीदयाल की इलाज के दौरान मौत हो गई थी।

मामला जयकरन व लक्ष्मी की ओर से दर्ज कराया गया था। जिसकी सुनवाई करते हुए बुधवार को अपर सत्र न्यायालय कोर्ट नंबर चार के न्यायाधीश शैलोज चंद्रा ने अभियुक्त अशोक यादव को दोषी मानते हुए 20 वर्ष के कठोर कारावास की सजा के साथ 40 हजार रुपये का अर्थदंड की सजा सुनाई है। अर्थदंड के अदा न करने पर अभियुक्त को दो वर्ष का अतिरिक्त कारावास काटना होगा। न्यायाधीश ने अर्थदंड की आधी राशि लक्ष्मी को देने का आदेश दिया है।