डाक्टर समय से सीट पर पहुंचें और मरीजों का इलाज करें

जिलाधिकारी विशाख जी ने कलाम सभागार में स्वास्थ्य समिति की बैठक में डाक्टरों को निर्देश दिये कि वे अपने अपने स्वास्थ्य केन्द्रों, जिला चिकित्सालयों में समय पर बैठकर अपने दायित्व का निर्वाहन करें। डाक्टरों की समाज में एक अलग पहचान है। सम्मान है, क्योंकि वे संवेदनशील होकर ईमानदारी से काम करते हैं। डाक्टर मरीजों से अच्छा बर्ताव करें। समुचित इलाज करें, दुर्घटना वाले मामलों में प्राथमिकता दें। महिला चिकित्सालय में डाक्टर के गायब होने की बहुत शिकायतें हैं यह अच्छी बात नही है इसकी जांच कराई जा रही है।

डाक्टरों की गैरहाजिरी से मरीजों को परेशानी उठानी पडती है। उन्होने सीएमओ को निर्देश दिये कि पुरूष व महिला चिकित्सालयों में आकस्मिक निरीक्षण करें। गैरहाजिर डाक्टरों की सूची बनाकर उन्हे भेजें ताकि उनके खिलाफ कडी कार्यवाही की जा सके। डीएम ने कहा कि बिना मेरी अनुमति के डाक्टर अवकाश पर नही जायेंगें यही बात पीएचसी और सीएचसी के डाक्टरों पर भी लागू है। वे तैनाती स्थल पर आवास बनाकर रहें। उन्हेाने सीएमओ से कहा कि नैपकिन किशोरियों को वितरण कर उसकी सूची तैयार कर प्रस्तुत करें। कल्पवृक्ष की यूनिट नैपकिन तैयार कर उपलब्ध कराती है। पिछले साल की तुलना में प्रसव की प्रगति कम है। गर्भवती महिलाओं को एएनएम आशा बहू से पहचान कराकर बैंकों में खाता खोलें ताकि दी जाने वाली धनराशि सीधे खाते में पहुंचे।

 

 



चर्चित खबरें