?> आसमान से बरसी आग ने झुलसाया बदन बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ बदन झुलसा देने वाली सूर्य की किरणों ने लोगों को बेहाल"/>

आसमान से बरसी आग ने झुलसाया बदन

बदन झुलसा देने वाली सूर्य की किरणों ने लोगों को बेहाल कर रखा है। हालात यह है कि दोपहर के समय सड़कों पर सन्नाटा दिखाई दे रहा है जरुरी काम से आने जाने वाले लोग मुंह में नकाब व हाथों में दस्ताने पहनकर घरों से बाहर निकल रहे है। लू के थपेडों से लोग परेशान है। गर्मी के इस मौसम में बिजली की अघोषित कटौती कोढ में खाज का काम कर रही है। घर से बाहर निकलने वाले युवक व युवतियों अपने मुंह व हाथों को ढक कर बाहर निकल रहे है।

अप्रेल माह समाप्त होने को अभी दस दिन बाकी है परन्तु गर्मी ने लोगों का हाल बेहाल कर रखा है ऐसे में आने वाले दिनों में हालात क्या होंगे इसको लेकर लोग ससंकित है। सुबह से ही सूर्य की तीखी किरणें निकल रही है जैसे जैसे दिन चढता है सूर्य की तपिश और तीखी होती जाती है। यही वजह है कि दोपहर के समय सडकों में कफ्र्यू जैसा नजारा दिखाई दे रहा है। उमश भरी गर्मी के साथ गर्म हवाये लोगों को नासूर की तरह चुभ रही है। हालात यह है कि दुकानदार अपने प्रतिष्ठान दोपहर के समय बन्द करने को मजबूर है। जरुरी काम से आने जाने वाले लोग हाथों में दस्ताने व मुंह में नकाब पहनकर ही घरों से बाहर निकल रहे है। गर्मी के इस मौसम ने आम और खाश सभी को परेशान कर रखा है। शीतल पेय पदार्थो की दुकानों मे लोगों की भीड दिखाई दे रही है तो आने जाने वाले लोग पेडों की छांव तलाशते नजर आ रहे है।

पालिका प्रशासन द्वारा निःशुल्क प्याऊ की व्यवस्था नही की गई है और न ही इस पुनीत काम में समाजसेवी आगे आ रहे है। भीषण गर्मी के चलते इंसान ही नही पशु पक्षी भी बेहाल हैं। गर्मी का सबसे ज्यादा असर गरीबों पर पड रहा है। मेहनत मजदूरी करके प्रतिदिन दो वक्त की रोटी की जुगाड करने वाले गरीब परिवार भी भीषण गर्मी व सूर्य की तपिश के चलते काम पर नही जा पा रहे है। पारा दिन पर दिन बढता जा रहा है, जिससे लोग परेशान है। चिकित्सकों ने गर्मी के इस मौसम में बचाव करने के निर्देश दिये। चिकित्सक एसपी सिंह ने कहा कि घर से निकलते समय पूरी तौलिया आदि लेकर निकले तथा खाली पेट घर से न निकले। उन्होने पानी की बोतल साथ लेकर चलने की नसीहत दी है। वही समाजसेवियो ंने नगर पालिका से विभिन्न चैराहे पर प्याऊ खुलवाये जाने की मांग की है।