?> जब तक अनपढ है इंसान, नही रूकेगा यह अभियान बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ शासन के निर्देश पर बुधवार को सर्व शिक्षा अभियान के तह"/>

जब तक अनपढ है इंसान, नही रूकेगा यह अभियान

शासन के निर्देश पर बुधवार को सर्व शिक्षा अभियान के तहत जगह जगहं रैलियां निकाली गई। हाथों में तख्तियां लिये बच्चे लोगों को शिक्षाप्रद नारों से जागरुक करते रहे। घर-घर शिक्षा दीप जलाओं, लडका-लडकी सभी पढाओं, जब तक अनपढ है इंसान, नही रूकेगा यह अभियान आदि नारों से लोगों को जागरूक किया गया। कहा गया कि अभिभावक अपने बच्चों को विद्यालय भेजे जिससे कि कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित न रह सके। बच्चों को निःशुल्क शिक्षा के साथ ही ड्रेस व पुस्तकें मुहैया कराई जायेगी।

कुलपहाड क्षेत्र के पूर्व माध्यमिक विद्यालय व प्राथमिक विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने बुधवार को सर्व शिक्षा अभियान के तहत रैली निकाली। विद्यालय की प्रधानाध्यापिका ने रैली को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। रैली विद्यालय से शुरु होकर मैन रोड होते हुये विभन्न मार्गो से गुजरी। इस दौरान हाथों में तख्तियां लिये बच्चे घर-घर शिक्षा दीप जलाओ लड़का लड़की सभी पढाओ, पढी लिखी लड़की, रोशनी घर की। जैसे नारों से लोगों को जागरुक करते रहे। इस मौके पर अभिभावकों से अपने बच्चों को विद्यालय भेजने का आह्वान किया गया। कहा गया कि सरकार द्वारा सभी को शिक्षित करने के लिये सर्व शिक्षा अभियान चलाया जा रहा है। ताकि गांवों व कस्वों में कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित न रहे सके और विद्यालय पहुंचकर पढाई कर सके।

इसके लिये सरकार द्वारा बच्चों को निःशुल्क शिक्षा के साथ ही ड्रेस व पुस्तकों का निःशुल्क वितरण किया जा रहा है। बीएसए के निर्देश पर गांव-गांव में जागरुकता रैलियों का आयोजन किया जा रहा है। जिससे कि अभिभावक जागरुक हो और अपने बच्चों को विद्यालय भेजें। इसी प्रकार पनवाडी कस्बे में भी सर्व शिक्षा अभियान के तहत रैली निकाली गई जो विभिन्न मार्गो से होकर गुजरी। विभिन्न मार्गों से हाकर गुजरी रैली में शिक्षकों ने बच्चों को विद्यालय भेजने की बात कही। बताया कि नवीन शिक्षण सत्र की शुरूआत होने वाली है। ऐसे में अभिभावक अपने बच्चों को विद्यालय लाये और उनका दाखिला कराये जिससे कि कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित न रह सके। इसी प्रकार खरेला कस्बे में भी विद्यालय के बच्चों द्वारा जागरूकता रैली निकाली गई। जिसमें बच्चांे ने बढचढकर हिस्सा ले लोगों को जागरूक किया।