< कर्ज में डूबे किसान ने फांसी लगाकर खुदकशी की Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News थाना क्षेत्र के बिदोखर मेदनी गांव में कर्ज में डूबे किसान ने गुर"/>

कर्ज में डूबे किसान ने फांसी लगाकर खुदकशी की

थाना क्षेत्र के बिदोखर मेदनी गांव में कर्ज में डूबे किसान ने गुरुवार रात घर के अंदर फांसी लगाकर खुदकशी कर ली। सुबह जब पुत्रियां पिता को जगाने गई। तब घटना का पता चल सका। किसान के ऊपर बैंक एवं साहूकारों का करीब दो लाख रुपये कर्ज था।

जमीन भी गिरवी रखी हुई है। बिदोखर मेदनी निवासी 40 वर्षीय बरदानी प्रजापति पुत्र शिवरतन के पास महज तीन बीघे जमीन है। इसने इलाहाबाद बैंक इंगोहटा से जून 2018 में 72 हजार रुपये का किसान क्रेडिट कार्ड बनवा रखा था।

करीब सवा लाख रुपये इसने गांव के साहूकारों तथा रिश्तेदारों से ले रखा था। बीती रात इसने खाना खाया और सोने चला गया। पत्नी फूल कुंवर मायके गई हुई थी। रात में इनके खपरैल वाले मकान में धन्नी के सहारे रस्सी से फांसी लगाकर जीवन लीला समाप्त कर ली।

घटना का पता सुबह चल सका। जब देर तक कमरे से कोई आहट नहीं मिली। तब पुत्री मंजू जगाने पहुंची तो देखा पिता फांसी पर लटके थे। कमरे के अंदर का नजारा देखकर मंजू की चीख निकल गई।

पिता को फांसी पर लटका देखकर पुत्री मंजू, रागिनी, प्रियंका तथा दो छोटे-छोटे पुत्रों का रो- रोकर बुरा हाल हो गया। घटना से मायके गई पत्नी फूलकुंवर को अवगत कराया गया। सूचना पाकर वह मौके पर आई और पति का शव देख दहाड़े मार कर रोने लगी।

मां फल मतिया ने बताया कि करीब दो लाख का कर्ज है। जमीन बड़ी पुत्री सावित्री की शादी में गिरवी रख दी थी। तब से अब तक नहीं उठाई है। दो पुत्रियां मंजू एवं रागिनी शादी योग्य हो गई है। इन्हीं की शादी करने के लिए वह परेशान रहता था।

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

About the Reporter

  • ,

अन्य खबर

चर्चित खबरें