< ग्रामीणो ने अन्ना जानवरों को स्कूल में किया बंद Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News स्कूल गये बच्चों को घण्टों बाहर रहना पड़ा

ग्रामीणो ने अन्ना जानवरों को स्कूल में किया बंद

स्कूल गये बच्चों को घण्टों बाहर रहना पड़ा

बुन्देलखण्ड में अन्ना जानवर किसानो के खेतों में खड़ी फसल को नष्ट कर रहे है जिससे परेशान कई किसान मौत को गले लगा चुके है। वही बड़ी संख्या में किसान आवारा घूम रही गायों को पकड़ कर स्कूलो में बंद करके शिक्षण कार्य बाधित कर रहे है। शनिवार को ऐसी ही एक घटना बिसण्डा क्षेत्र के ग्राम सिंहपुर में देखने को मिली, जहां सैकड़ो गांयो को गांव के लोगो ने माध्यमिक विद्यालय सिंहपुर में बंद कर दिया, जिससे कई घंटे तक छात्र-छात्राएं स्कूल के बाहर घूमते रहे, और शिक्षण कार्य बाधित रहा।

अन्ना जानवर इस समय बुन्देलखण्ड में किसानों के लिए परेशानी का सबब बने हुए है। हालांकि अन्ना जानवरो से निजात दिलाने के लिए प्रदेश सरकार सक्रिय है, उसने हर गांव में पशु आश्रय ग्रह बनाने के निर्देश दिये है, इसके लिए शासन द्वारा धन भी व्यय किया  जा रहा हैं। लेकिन इस मामले में प्रशासन पूरी तरह से विफल हो गया हंै। प्रशासनिक अधिकारी सिर्फ गोष्ठियो, और भ्रमण करके कागजी घोड़े दौड़ा रहे, जबकि धरातल में सच्चाई कुछ और नजर आ रही है। अन्ना जानवरों के झुण्ड किसानों की फसल चैपट कर रहे है, जिससे किसान बुरी तरह तबाह और परेशान है।

इसी परेशानी के कारण ही  बिसण्डा क्षेत्र के सिंहपुर माफी गांव के एक स्कूल में सैकड़ो जानवरों को बंद कर दिया गया। जब संवरे पढ़ने के लिए बच्चे स्कूल गए तो स्कूल में जानवरों को बंद देखकर बाहर आ गये। कुछ देर बाद प्रधानाध्यापक अशोक कुमार गुप्ता पहुंचे तो उन्होने घटना की जानकारी थानाध्यक्ष को दी।

इधर गांव के कैलाश नाथ वर्मा व जगमोहन आदि दर्जनो ग्रामीणो ने कहा कि यह सारे जानवर बाहरी है। हमारे जानवर घरों में बंद है। यह जानवर हम किसानो की फसल खाये जा रहे है। सरकार अन्ना जानवरों को रोकने के लिए पैसा दे रही है, लेकिन यहां प्रशासन कुछ भी कर पाने में नाकाम सबित हो रहा है। हमारी मांग है कि पशुओ को पशुबाड़ा में रखा जायें, इसके लिए यहां एसडीएम स्वंय आकर व्यवस्था कराये। इधर सूचना पाकर मौके पर पहुचे। थानाध्यक्ष ने स्कूलो से जानवरों को निकलवा कर कांजी हाउस पहुंचाया तब जा कर बच्चे स्कूल के अंदर जा सके। 
 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें