< गुरु की वेदना को समझना ही सच्ची गुरु सेवा : पं.दिनेश आचार्य Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News परिवार में कन्या का जन्म होना कुलदेवी की कृपा से ही होता है, यही ज"/>

गुरु की वेदना को समझना ही सच्ची गुरु सेवा : पं.दिनेश आचार्य

परिवार में कन्या का जन्म होना कुलदेवी की कृपा से ही होता है, यही जगदंबा का आगमन और कृपा है, गुरु की वेदना और आवश्यकता को समझना ही सद्गुरु की वास्तविक सेवा है। दद्दू दरबार मंदिर में चल रही 11 दिवसीय श्री शिव महापुराण कथा के समापन पर बोलते हुए कथा व्यास पंडित दिनेश आचार्य ने उक्त उद्गार व्यक्त करते हुए कहा कि बच्चों को माता का दूध नहीं मिलना प्रारब्ध का दोष है इसे भगवत पूजन से दूर किया जा सकता है। 

उन्होंने कहा कि माता पिता और बड़ों का सदैव आदर करना चाहिए, शिव मंदिर के पास विभिन्न वृक्ष लगाना चाहिए। सद्गुरु के निर्देशन में किया योग- प्राणायाम व्यक्ति को दीर्घायु बनाता है, उन्होंने कहा कि भगवान शिव महा योगी एवं श्री कृष्ण योगेश्वर है इनकी आराधना से सबसे बड़ी संपत्ति निरोग काया प्राप्त होती है।बगैर ज्ञान के मनुष्य की मुक्ति संभव नहीं है। इस अवसर पर दिनेंद्र पांडे, भूपेंद्र विशाल लॉज, टी.आर यादव,यू एस रावत, देवांश पांडे ,कृष्णकांत तिवारी ,बसंत सेन, योगेश तिवारी ,डॉ मुकेश दुबे, गुड्डा यादव, शेरा विश्वकर्मा ,नीलेश पांडे ,श्याम तिवारी ,मुन्ना पटेल, लल्लू रजक, जितेंद्र ठाकुर, अन्नू पटेल ,कमलेश पटेल, आरके साहू ,राजेश यादव एवं नितिन रजक को शाल श्रीफल पुष्पहार एवं प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया।

About the Reporter

  • ,

अन्य खबर

चर्चित खबरें