< सुनहरा रेत खदान में दो पक्षों के बीच चली गोलियां क्षेत्र में दहशत का माहौल Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News अतर्राज्याय अपराधियों की पनाहगाह बनीं अजयगढ़ क्षेत्र क"/>

सुनहरा रेत खदान में दो पक्षों के बीच चली गोलियां क्षेत्र में दहशत का माहौल

अतर्राज्याय अपराधियों की पनाहगाह बनीं अजयगढ़ क्षेत्र की रेत खदाने

शिवा कार्पोरेशन रेत खदान के ठेकेदार जनपद अध्यक्ष भरत मिलन पान्डेय के परिवारिक सदस्यों के बीच चली गोलीयां

रेत खदानो मे नेता, अधिकारी, पुलिस का है गठजोड

बीरा चौकी के तहत आने वाली सुनहरा रेत खदान जिसका संचालन शिवा कार्पोरेषन द्वारा किया जा रहा है। खदान के कर्मचारियों व ट्रकों में रेत भरने गए कुछ लोगों के बीच 5 जनवरी की रात्रि लगभग 11 बजे बिवाद हो गया जो देखते ही देखते इतना बढ़ गया की गोलिया चलने की नोबत आ गई और फिर देखते ही देखते दोनों पक्षों की ओर से जमकर फायरिंग हुई, अजयगढ़ थाना प्रभारी को सूचना मिलते ही घटना स्थल की ओर रवाना हो गए पुलिस फोर्स ने रेत खदान से 2 एलएनटी और 1 जेसीबी मषीन बरामद की, इसके बाद दोनो पक्षों ने पुलिस को शिकायती आवेदन दिया, दूसरे दिन 6 जनवरी को लगभग 2 बजे तक पन्ना एडिशनल एसपी बीकेएस परिहार और एसडीओपी अजयगढ़ इषरार मंसूरी भारी पुलिस बल के साथ घटना स्थल पर पहुंच गए।

सूत्रों के मुताबिक रेत भरने के विवाद में शिवा कार्पोरेषन के गनमैन की ओर से गोली चलाए जाने के बाद दूसरी तरफ से भी गोलियां चलाई गई। अजयगढ़ एसडीओपी इषरार मंषूरी ने बताया कि गोली चलाने के आरोप में शिवा कार्पोरेषन के कुछ लोगों पर एफआईआर दर्ज करने की जानकारी प्राप्त हुई है। और दूसरे पक्ष अजयगढ़ जनपद अध्यक्ष भरत मिलन पाण्डेय के भाई और भतीजे पर जांच के बाद मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

फिलहाल गोली चलाने के आरोप में कुछ लोगों को पूंछतांछ के लिए अजयगढ़ थाने लाया गया है। रेत माफिया की दहषत से क्षेत्रवासी भयभीत है क्षेत्र की रेत रूपी सोना उगलने वाली नदियों की वैध और अवैध रेत खदानों में रेत माफिया की हुकूमत चलती है। आम नागरिक शाम होते ही दहशत के चलते घरों में दुबक जाते हैं, क्षेत्र में दहषत फैलाने के लिए रेत माफिया द्वारा हथियारबंद बदमाषों को पनाह दी जाती है।

पूर्व मे रेत माफियाओं द्वारा प्रासशनिक अधिकारियों व पत्रकारों को भी इनके द्वारा बदशलूकी, मारपीट व बंधक बनाया जा चुका है। अजयगढ़ क्षेत्र में पदस्थ व जिले में बैठे कुछ जिम्मेदार अधिकारी पैसो की लालच में अंधे होकर बेशर्मी की हदें पार कर चुके हैं। जिससे रेत माफिया का तांडव लंबे समय से जारी है। अधिकतर मामले यहीं दबा दिए जाते हैं, परंतु कभी कभार इनकी गूंज जिला मुख्यालय से लेकर भोपाल और दिल्ली तक सुनाई दे जाती है, तब अधिकरियों को कार्यवाही के लिए मजबूर होना पड़ता है। परंतु यह कार्यवाही भी कई सवाल खड़े करती है जहां कुछ एलएनटी मषीनें पकड़ी जाती हैं, जबकी अवैध खदानो में चंद कदम दूर चल रही मशीनों को अनदेखा कर दिया जाता है।

जिससे क्षेत्र में अवैध रेत उत्खनन और परिवहन में कोई कमी नही आ रही है। अधिकारियों व राजनेताओं की संलिप्तता किसी से छिपी नहीं है कल तक साईकल से चलने वाले नेता रेत की काली कमाई से लग्जरी गाड़ियों में घूम रहे हैं। वैद्य खदानो पर रेत सामाप्त हो चुकी है उक्त वैध खदानो के नाम पर पूरे क्षेत्र मे अवैध रेत उत्खनन शिवा कार्पोरेषन द्वारा किया जा रहा है।

खदान के मैनेजर द्वारा अधिकारियों से मिलकर खदान सीमा से बाहर बहती नदी की धारा को रोक कर एलएनटी मशीनों से अवैध रेत उत्खनन किया जा रहा है। लगातार शिकायतों के बावजूद भी प्रशासनिक पुलिस तथा खनिज विभाग के अधिकारीयों द्वारा कार्यवाही नहीं की जा रही है। जिससे लगातार पूरे क्षेत्र में अवैध उत्खनन धडल्ले से चल रहा है। वर्तमान कार्यवाई के दौरान पानी से रेत निकालने में लगी 2 एलएनटी मशीनों को पकड़ा गया परंतु अवैध रेत उत्खनन का मामला नहीं दर्ज किया गया जिससे राजस्व और खनिज विभाग की भूमिका संदिग्ध नजर आ रही है।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें