< जेल के बंदियों को रोटी बनाने व आटा गूंथने की मशक्कत से मिली निजात Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News जेल के बंदियों को रोटी बनाने व आटा गूंथने की मशक्कत से निजात मिल "/>

जेल के बंदियों को रोटी बनाने व आटा गूंथने की मशक्कत से मिली निजात

जेल के बंदियों को रोटी बनाने व आटा गूंथने की मशक्कत से निजात मिल गई है। जेल में मशीन से रोटियां बनाई जाने लगीं हैं। आटा भी मशीन से गूंथा जा रहा है। इसके लिए जिला कारागार को दो मशीनें उपलब्ध करा दी गई हैं। एक मशीन एक घंटे में आठ सौ से अधिक रोटियां तैयार करती है।

इसके अलावा लोई बनाने, आटा गूंथने, गेहूं की छनाई, सब्जी काटने के लिए भी मशीनें खरीदी गई हैं। अब तक सजायाफ्ता कैदियों को रसोई के कामकाज में लगाया जाता था। प्रतिदिन पचास से अधिक बंदी मिलकर रोटियां तैयार करते थे। सब्जी काटने व अन्य कामों में भी कैदी लगते थे।

रोटी बनाने में ही इन कैदियों को लगभग छह घंटे लग जाते थे। जेल प्रशासन ने इस स्थिति को देखते हुए मशीनें खरीदने का निर्णय लिया। जेल प्रशासन ने करीब छह लाख रुपये कीमत से रोटी बनाने की दो चपाती मेकिंग मशीन खरीदी हैं।

About the Reporter

  • ,

अन्य खबर

चर्चित खबरें