प्रिंट रेट से अधिक में पानी की बोतल बेचने वालों पर होगी कार्यवाही, अधिकारी करेंगे औचक निरीक्षण

रेलवे के सूत्रों की मानें तो रेल विभाग स्टेशनों में पानी के बोतल के नाम पर हो रही यात्रियों से लूट पर बिल्कुल सख्त हो गया है। उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) के सभी स्टेशनों में चल रहे स्टालों का रेलवे अधिकारी जल्दी ही कर सकते हैं औचक निरीक्षण। जिन स्टालों पर पानी का बोतल अपने प्रिंट रेट से अधिक बिक रहा है उनके ऊपर होगी बड़ी कार्यवाही । अगर कोई भी स्टाल प्रिंट रेट से अधिक रूपये में स्टेशन में पानी का बोतल बेचते पकडा गया तो तत्काल प्रभाव से सीज किये जायेंगे स्टाल। स्टाल मालिको पर होगी कार्यवाही , उन्हें भरना पड़ेगा जुर्माना ।
 
आपको बता दें कि पिछले दिनों बुन्देलखण्ड न्यूज ने स्टेशनों में बिक रहे पानी के बोतल में प्रिंट रेट से 5 रूपये अधिक पर बेचे जाने की खबर चलाई थी जिसके बाद रेलवे ने चित्रकूट धाम मंडल के कई स्टेशनों पर कार्यवाही की थी। सूत्रों की मानें तो जल्दी ही इलाहाबाद और छिवकी जंक्शन रेलवे स्टेशनों के स्टालों पर भी बड़ी कार्यवाही हो सकती है जहाँ भी प्रिंट रेट से अधिक मूल्य पर पानी का बोतल बेंचा जा रहा है । 
 
गौरतलब है कि इस समय लोगो को भीषण गर्मी का सामना करना पड़ रहा है । जिससे लोगो को खूब प्यास भी लग रह है । ऐसे में रेल से सफर कर रहे यात्रियों को तो भारी मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है । स्टेशनों में पानी के बोतल बेच रहे तमाम स्टालों की चांदी है । इन सभी स्टालों पर पानी का बोतल अपने प्रिंट रेट से 5 रूपये अधिक बेंचा जा रहा है । एनसीआर के कुछ बड़े स्टेशनों का तो यहाँ तक हाल है कि जैसे ही प्लेटफार्म पर गाड़ी आती है वैसे ही प्लेटफार्म का पानी बन्द करवा दिया जाता है ।
ऐसे में यात्रियों को पानी का बोतल खरीदने पर मजबूर होना पड़ता है । सवाल ये है कि इस प्रचण्ड गर्मी में उन गरीबों का क्या होगा जिनके पास बोतल खरीदने का भी रुपया नही है । ऐसा भी नही है कि रेलवे प्रशासन को इस लूटतंत्र की जानकारी न हो । सूत्रों की मानें तो इस लूट का पूरा पैसा तमाम विभागों से होता हुआ नीचे से ऊपर तक जाता है ।


चर्चित खबरें