< गौवंश संरक्षण के निर्माण कार्य की हुई माॅडल शुरूआतः सूर्य प्रताप शाही Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News जनपद के प्रभारी मंत्री एवं कृषि शिक्षा एवं कृषि अनुसंधान विभाग/"/>

गौवंश संरक्षण के निर्माण कार्य की हुई माॅडल शुरूआतः सूर्य प्रताप शाही

जनपद के प्रभारी मंत्री एवं कृषि शिक्षा एवं कृषि अनुसंधान विभाग/उ0प्र0 सरकार के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही के मुख्य आतिथ्य एवं जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में अमझरा ग्राम पंचायत नाराहट, ब्लाॅक मड़ावरा में आयोजित ‘‘बृहद गौ संरक्षण केन्द्र गोष्ठी’’ का आयोजन किया गया। गोष्ठी के पूर्व प्रभारी मंत्री ने अमझरा घाटी का भ्रमण कर यहां के प्राकृतिक सौंदर्य को देखा। यहां कार्य कर रहे मजदूरों से प्रभारी मंत्री ने उनके रहन-सहन के बारे में पूछताछ की। इसके उपरान्त मंत्री ने कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। 

कार्यक्रम में ग्राम पंचायत नाराहट के प्रधान दिलीप सोनी द्वारा प्रभारी मंत्री सहित उपस्थित अतिथियों का स्वागत किया गया। ग्राम प्रधान ने प्रभारी मंत्री से कहा कि नाराहट ग्राम पंचायत की आमदनी की समस्त धनराशि का उपयोग यहां बनने वाले गौवंश आश्रय स्थल के लिए किया जाएगा। इसके उपरान्त पूर्व विधायक महरौनी देवेन्द्र सिंह ने कहा कि गौवंश की समस्या के निदान हेतु जनपद के जिलाधिकारी ने बृहद सकारात्मक प्रयास किये हैं। अमझरा घाटी उत्तर प्रदेश एवं मध्य प्रदेश की सीमा पर स्थित है। इस क्षेत्र में गौवंश की समस्या एक बड़ी समस्या है।

जिलाधिकारी द्वारा अन्ना गौवंश की समस्या के निस्तारण के लिए सराहनीय प्रयास किये जा रहे हैं। इसके उपरान्त राज्य मंत्री श्रम एवं सेवायोजन मनोहर लाल पंथ ने अपने विचार प्रकट करते हुए कहा कि मुझे इस स्थान का दृश्य देखकर अत्यधिक प्रशंसा हुई है, यहां पर प्राकृतिक जल के अनेकों स्रोत हैं। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने अपने सम्बोधन में कहा कि 30 एकड़ जमीन पर गौवंश आश्रय स्थल की परिकल्पना का विचार एक सराहनीय कार्य है।

अमझरा घाटी के इस स्थान पर गौवंश आश्रय स्थल विकसित करने का कार्य किया जाएगा। प्रभारी मंत्री के प्रयासों के कारण ही कल्यानपुरा गौवंश आश्रय स्थल के माॅडल को केबिनेट में स्वीकृति प्राप्त हुई है। इसके पश्चात उप निदेशक, कृषि संतोष कुमार सविता ने कहा कि कृषि विभाग द्वारा अनेको कृषक हितैशी योजनाएं संचालित हैं।

किसी भी योजना का लाभ लेने हेतु प्रत्येक कृषक को पंजीकरण कराना अनिवार्य है। अतः मेरा जनपद के समस्त कृषकों से अनुरोध है कि जिन कृषकों ने अब तक अपना पंजीकरण नहीं कराया है वे शीघ्र अपना आॅनलाइन पंजीकरण करा लें ताकि उन्हें कृषि विभाग की योजनाओं का लाभ मिल सके। 
कार्यक्रम मंे प्रभारी मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने अपने सम्बोधन में कहा कि ललितपुर जनपद से गौवंश संरक्षण के निर्माण कार्य की शुरुआत हुई है। जनपद के जिलाधिकारी ने इसे एक माॅडल का रुप धारण कराया है। अन्ना पशुओं की समस्या हमारे द्वारा ही खड़ी की गई है। हम अपने पशुओं का उपयोग करके उन्हें यहां-वहां छोड़ देते हैं, जिससे अन्ना पशुओं की समस्या बड़ती जा रही है। जानवरों के गोबर एवं मूत्र का छिड़काव किसानों को अपने खेतों में करना चाहिए, इससे खेत की उर्वरता शक्ति में वृद्धि होगी। 

गोष्ठी में राज्य मंत्री श्रम एवं सेवायोजन उ0प्र0 मनोहर लाल पंथ, सांसद प्रतिनिधि प्रदीप चैबे, जिलाध्यक्ष भाजपा जगदीश सिंह लोधी, जिलाधिकारी, ललितपुर मानवेन्द्र सिंह, पुलिस अधीक्षक मिर्जा मंज़र बेग, उपजिलाधिकारी सदर घनश्याम वर्मा, उप जिलाधिकारी पाली विधेश कुमार, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डाॅ0 एस0के0 शाक्य, उप निदेशक कृषि संतोष कुमार सविता, जिला कृषि अधिकारी गौरव यादव, बुन्देलखण्ड सेवा संस्थान के मंत्री वासुदेव सिंह, खण्ड विकास अधिकारी वी0पी0 शुक्ला, जिला सूचना अधिकारी पीयूष चन्द्र राय सहित अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे। 
 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें