< उम्मीदवार और लोगों की नजरें 11 दिसंबर पर टिकी Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News विधानसभा चुनावी के लिए मतदान हो चुका है, अब उम्मीदवार और लोगों क"/>

उम्मीदवार और लोगों की नजरें 11 दिसंबर पर टिकी

विधानसभा चुनावी के लिए मतदान हो चुका है, अब उम्मीदवार और लोगों की नजरें 11 दिसंबर पर टिक गई हैं। छतरपुर जिले की छह विधानसभाओं के चुनावी रण में उतरे 92 उम्मीदवारों का फैसला 12 दिन बाद होगा।

इस बार रिकॉर्ड तोड़ हुए मतदान ने उम्मीदवारों की उम्मीदें बढ़ा दी हैं। जिसे देखते हुए ये दिग्गज अपनी-अपनी जीत का दावा कर रहे हैं।

किसकी स्थिति कैसी हैं कौन हारेगा कौन जीतेगा यह रुख जानने लिए उम्मीदवार सुबह से ही लोगों के बीच पहुंच गए थे। जहां उनकी उम्मीदों को तब और पंख लगते नजर आए जब उनसे लोग एक विजेता की तरह मिलते रहे।

कुछ उम्मीदवारों को तो मतदान खत्म होने के बाद सोशल मीडिया और मोबाइल पर बधाइयां दिए जाने का सिलसिला तक शुरू हो गया था। सुबह से ही चुनावी चर्चाएं जोर पकड़ती रहीं और जहां से जो नामी चेहरे इस बार लड़े थे वहां हार जीत के समीकरणों पर विचार -विमर्श चलता रहा।

छह विधानसभाओं में यूं तो हर सीट चर्चा में रही, लेकिन सबसे ज्यादा छतरपुर, राजनगर, बड़ामलहरा और महाराजपुर सीटें रही हैं। जहां रियासतों के राजाओं और युवा चेहरों के बीच कड़ा मुकाबला देखा गया है।

सिंघासन का सरताज कौन होगा यह 11 दिसंबर का दिन तय करेगा। उम्मीदवार किस तरह जीत की दावेदारी ठोक रहे हैं यह जानने का जब नईदुनिया ने प्रयास किया तो बड़े की रोचक समीकरण सामने आए।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें