< दीपदान को पहुंचने लगा श्रद्धालुओं का जत्था  Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News भीड़ के चलते कई बार प्रभावित हुई यातायात व्यवस्था

दीपदान को पहुंचने लगा श्रद्धालुओं का जत्था 

भीड़ के चलते कई बार प्रभावित हुई यातायात व्यवस्था

चित्रकूट। दीपावली अमावस्या मेला के दो दिन पूर्व से श्रद्धालुओं का रेला शुरू हो गया है। दोपहर बाद भीड़ बढ़ने से कई बार यातायात व्यवस्था प्रभावित हुआ। चारो ओर वाहनों की लंबी कतारे लग गई। तीर्थक्षेत्र में श्रद्धालुओं के जत्थे पहुंचकर डेरा डाल रहे हैं, जो दीपावली के दिन आस्थाभाव से कामतानाथ की परिक्रमा कर वापस गंतव्य को लौट जायेंगे। 

गौरतलब हो कि दीपावली अमावस्या मेला में लाखों श्रद्धालुओं के आने की संभावना है। इसी क्रम में मेला के दो दिन पूर्व से ही श्रद्धालुओं का रेला आना शुरू हो गया है। विभिन्न वाहनों से जत्थे के जत्थे चित्रकूटधाम पहुंच रहे हैं। तीर्थक्षेत्र में दीप मालिका अमावस्या मेला के लिये श्रद्धालुओं का हुजूम उमड़ने लगा।

जिसके चलते ट्राफिक चैराहा समेत सभी चैराहो में वाहनों की भीड बढ गई है। मुख्यालय में चहलकदमी तेज हो गई। कई बार वाहनों की लंबी कतारें चारो ओर लगने से जाम की स्थिति बनी। स्टेशन परिसर से लेकर रामघाट तक श्रद्धालुओं का रेला देखने को मिला। कुछ श्रद्धालु पैदल चित्रकूट तक पहुंचे।

यातायात व्यवस्था सुचारु करने के लिये पुलिस ने चित्रकूट मप्र के पुराने घोरासी स्टैन्उ के पास से बैरीकेटिंग लगा दी गई है। इसी क्रम में हनुमानधारा स्थित कामतानाथ मार्ग पर भी यातायात सुचारू रखने के इंतजाम किये जा रहे हैं। रामघाट में श्रद्धालुओं के स्नान करने के लिये मंदाकिनी तट पर नदी में पोल गाड़कर खतरे का संकेत लगाया गया।

तीर्थ क्षेत्र के मठ-मंदिरों झालरों से सज गये हैं। कामतानाथ मार्ग पर पुराने बस स्टैन्ड से लेकर कामतानाथ मंदिर तक दोनो ओर दुकाने सज गई हैं। मेला क्षेत्र में चप्पे-चप्पे पर पुलिस मुस्तैद रही। उल्लेखनीय है कि दीप मालिका मेले में कई दिनों पूर्व से चल रहे श्रद्धालुओं के रेले में हजारों यात्री ऐसे भी होते हैं जो पैदल आकर चित्रकूट परिक्षेत्र के गणेश बाग में प्रथम दिन विश्राम करते हैं।

द्वितीय दिवस हनुमान धारा होते हुये मंदाकिनी तट पहुंचकर स्नान बाद मत्यगयेन्द्र शंकर भगवान को जलाभिषेक करने के पश्चात कामदगिरि की परिक्रमा करते है। सायं दीपदान कर दीपमालिका पर्व मनाते हैं। अगले दिन अनुसुइया आश्रम, गुप्त गोदावरी, स्फटिक शिला, जानकीकुण्ड, भरतकूप, सूर्यकुण्ड आदि तीर्थ स्थलों का भ्रमण कर वापस गंतव्य को लौट जाते हैं।
 

About the Reporter

  • राजकुमार याज्ञिक

    चित्रकूट जनपद के ब्यूरो चीफ एवं भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के जिलाध्यक्ष राजकुमार याज्ञिक चित्रकूट जनपद के एक वरिष्ठ पत्रकार हैं। पत्रकारिता में स्नातक श्री याज्ञिक मुख्यतः सामाजिक व राजनीतिक मुद्दों पर अपनी गहरी पकड़ रखते हैं।, .

अन्य खबर

चर्चित खबरें