< सती सुलोचना के संवाद सुन दर्शक हुये भाव विभोर Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News श्रीआदर्श रामलीला सांस्कृतिक समिति झंडा बाजार में ग्यारहवे दि"/>

सती सुलोचना के संवाद सुन दर्शक हुये भाव विभोर

श्रीआदर्श रामलीला सांस्कृतिक समिति झंडा बाजार में ग्यारहवे दिन मंचन में प्रभु श्रीराम ने कुंभकरण का वध करके उसे परम धाम पहुंचाया। इसके बाद रावण का क्रोध बढ़ते देख मेघनाथ ने दोबारा युद्ध में जाने के लिए अपने पिता से आज्ञा मांगी। आज्ञा पाकर वह अजेय रहने के लिये पहले मां निकुंबला देवी की आराधना करने के लिए यज्ञ करने लगा। मंचन से पहले पूर्व विधायक ने भगवान श्रीराम की आरती उतारी।

आकाश में धुंआ उठता देख प्रभु श्रीराम ने विभीषण से पूछा तब विभीषण ने बताया प्रभु मेघनाथ द्वारा मायावी यज्ञ करके देवी निकुंबला को प्रसन्न कर रहा है यदि उसने यह यज्ञ सफल कर लिया तो उसे युद्ध में कोई नहीं हरा सकता। तब प्रभु श्रीराम ने सुग्रीव, हनुमान और वानरी सेना को भेजा और कहा की मेघनाथ का यज्ञ विध्वंस करो। उन्होंने अपने अनुज भ्राता लक्ष्मण को उस से युद्ध करने के लिए भेजा। दोबारा लक्ष्मण मेघनाथ के बीच भयानक युद्ध  हुआ।

मेघनाथ का सिर लेकर लक्ष्मण वापस अपने बड़े भाई श्री राम के पास आ गए और उसकी भुजा को काटकर सुलोचना के  द्वार पर मेघनाथ की भुजा को फेंका। उस समय वह भुजा सुलोचना को लिखकर बता रही थी कि लक्ष्मण द्वारा मेरा बध किया गया। तब सुलोचना ने अपने पिता रावण के पास जाकर कहा पिताजी मुझे अपने पति का सिर  लेने रामादल जाने की आज्ञा दें। सती सुलोचना का अभिनय देख कर दर्शक गण भाव विभोर हो गए। इस मौके पर पूर्व सांसद एवं पूर्व सदर विधायक राजनारायण बुधोलिया उर्फ रज्जू महाराज  को बतौर मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया। उन्होंने प्रभु श्री राघवेंद्र सरकार की आरती करके उन्हें माल्यार्पण किया। 

मंच पर मेघनाथ की भूमिका परशुराम विश्वकर्मा, लक्ष्मण की भूमिका में अखिलेश द्विवेदी, रावण की भूमिका में सुशील अरजरिया, दिशा निर्देशक परमेश्वरी दयाल तिवारी, कमेटी के प्रबंधक आचार्य जगदीश प्रसाद नायक आदि ने पात्रों को शील्ड और शॉल उड़ाकर सम्मानित किया। सभी पात्रों के अभिनव को जमकर सराहा गया। इस मौके पर राठ चेयरमैन श्रीनिवास बुधोलिया तथा राठ से ही नरोत्तम शुक्ला उपस्थित हुए। अंत में श्री आदर्श रामलीला कमेटी के अध्यक्ष श्री इंद्रपाल रिछारिया द्वारा मुख्य अतिथि महोदय का सम्मान करके उन्हें शील्ड और शॉल उड़ाकर सम्मानित किया गया। इस मौके पर महेंद्र द्विवेदी, ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि डॉ कौशल सोनी, मलखान सिंह यादव, बृज भूषण गुप्ता प्रमोद विश्वारी, मुकेश अग्रवाल आदि लोग उपस्थित रहे। 
 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें