< ग्राम मादौन में आयोजित जन चौपाल में सुनी समस्यायें Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News जन चौपाल में शिक्षा विभाग की कार्यप्रणाली मिली बेहाल

ग्राम मादौन में आयोजित जन चौपाल में सुनी समस्यायें

जन चौपाल में शिक्षा विभाग की कार्यप्रणाली मिली बेहाल

डीएम ने जतायी नाराजगी, अन्य योजनाओं की हुई समीक्षा

विकास खण्ड बिरधा के ग्राम मादौन में जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में जन चौपाल का आयोजन किया गया। चौपाल में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत निर्मित आवासों एवं स्वच्छ भारत अभियान के तहत निर्मित शौचालयों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी को अवगत कराया गया कि ग्राम में स्वच्छ भारत मिशन के तहत ग्राम में कुल 55 शौचालय निर्माण का लक्ष्य प्राप्त है, जिसमें से सभी शौचालयों का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है।

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बताया गया कि ग्राम में संभर सिंह पुत्र पन्ना लाल का आवास पूर्ण हो चुका है। इसके उपरान्त जिलाधिकारी ग्राम में आयोजित जन चौपाल में पहुंचे। चौपाल में विभिन्न जनपद स्तरीय एवं ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों ने प्रतिभाग किया, जिन्होंने केन्द्र तथा राज्य सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे में ग्रामीणों को जानकारी दी, साथ ही योजनाओं के लाभार्थियों को आवश्यक दिशा-निर्देश प्रदान किये गये।

जिलाधिकारी ने जलापूर्ति, विद्युतीकरण की समीक्षा की। चौपाल में पेंशन योजनाओं की समीक्षा के दौरान बताया गया कि ग्राम में पति की मृृत्यु के उपरान्त महिलाओं को सहायक अनुदान वितरण पेंशन योजना के 73 लाभार्थियों, वृद्धावस्था पेंशन योजना के 71 लाभार्थियों तथा विकलांग पेंशन के 04 लाभार्थियों को पेंशन मिल रही है। सार्वजनिक वितरण प्रणाली की समीक्षा में बताया गया कि ग्राम में श्री भज्जू रजक कोटे की दुकान का संचालन करते हैं।

स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा में स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित जननी सुरक्षा योजना तथा मातृ वन्दना योजना एवं प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। बताया कि आयुष्मान भारत योजना में 179 परिवार चिन्हित हैं। बताया कि आशा एवं एएनएम द्वारा घर-घर जाकर 09-15 वर्ष तक के बच्चों का टीकाकरण कराया जाएगा। इस टीकाकरण के पश्चात बच्चे खसरा जैसी घातक बीमारियों से दूर रहेंगे।

मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा.एस.के.शाक्य ने भी पशुओं में होने वाली बीमारियों, दुग्ध उत्पादन, बधियाकरण तथा नस्ल सुधार के बारे में ग्रामीणों को बताया। डीएम ने अन्य योजनाओं की भी समीक्षा की। चौपाल के दौरान विद्यालयों में अध्यापकों के अनुपस्थित रहने की शिकायत पर जिलाधिकारी ने शिक्षा विभाग के कार्यों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए खण्ड शिक्षा अधिकारी को ग्राम में शिक्षा व्यवस्था को सुधारने एवं बच्चों को नियमित रुप से दूध व फल वितरित कराने के निर्देश दिये। डीएम ने बीस लाभार्थियों को मसूर की 18 किस्म की किटें व 10 लाभार्थियों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरित किये। इस दौरान अनेकों अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे। 

 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें