< दो दर्जन से अधिक पहलवानों ने दंगल में दिखाए दाव-पेंच  Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News गढ़कुंडार ऐतिहासिक स्थल पर पिछले सालों की तरह इस साल भी नवदुर्गा "/>

दो दर्जन से अधिक पहलवानों ने दंगल में दिखाए दाव-पेंच 

गढ़कुंडार ऐतिहासिक स्थल पर पिछले सालों की तरह इस साल भी नवदुर्गा मेला का आयोजन किया गया। वहीं मेला में विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। मेला कमेटी के द्वारा दंगल प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। इस दंगल प्रतियोगिता का शुभारंभ भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष नंदकिशोर नापित ने फीता काटकर किया।

इस दंगल प्रतियोगिता में आसपास के ग्रामों सहित समथर झांसी, कोटरा, मऊरानीपुर, मोंठ, उरई सहित कई स्थानों के करीब दो दर्जन से अधिक पहलवानों ने भाग लिया। प्रतियोगिता में दारा सिंह अखाड़ा के पहलवान भी शामिल हुए। दंगल प्रतियोगिता के आयोजन में क्षेत्र से काफी संख्या में लोग दंगल देखने के लिए आए। यह आयोजन मेला कमेटी के अध्यक्ष रामानुज तिवारी कुमार के द्वारा आयोजन किया गया।

दंगल प्रतियोगिता का उद्घाटन डॉ नंदकिशोर नापित पूर्व जिला अध्यक्ष सदस्य प्रदेश कार्य समिति के द्वारा उद्घाटन किया गया। इस अवसर पर हेमंत परिहार युवा मोर्चा के पूर्व प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य उपस्थित रहे। श्री नापित ने कहा कि दंगल प्रतियोगिता से दर्शकों के मन में स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता उत्पन्न होती है। देखने वालों को भी लगता है, कि हम भी ऐसे शरीर से हस्ट-पुस्ट बनें। इस जंगल में गढ़कुंडार जो ऐतिहासिक स्थान है, जहां पर मां गिद्ध वाहिनी का मंदिर भी स्थित है।

यहां दूर-दूर से लोग दर्शन करने के लिए आते हैं। मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा तीन दिवसीय गढ़ कुंडार महोत्सव का आयोजन भी किया जाता है। दंगल प्रतियोगिता में मुख्य मुकाबला सुकतासी पहलवान समथर और जितेंद्र सिंह ऊबोरा के बीच हुआ। जिसमें सुकतासी की समथर विजेता रहे। वहीं जितेंद्र सिंह ऊबोरा उपविजेता रहे, जिन्हें पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन मेला समिति के अध्यक्ष पंडित रामानुज तिवारी के द्वारा किया गया।

 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें