< संचारी रोग नियंत्रण पखवाड़ा के अंतर्गत आयोजित हुआ लोकगीत गायन Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News कार्यक्रम संचारी रोग से बचाव हेतु स्वच्छता सबसे जरूरी :  प्"/>

संचारी रोग नियंत्रण पखवाड़ा के अंतर्गत आयोजित हुआ लोकगीत गायन

कार्यक्रम संचारी रोग से बचाव हेतु स्वच्छता सबसे जरूरी :  प्रधानाचार्य

संचारी रोग व मस्तिष्क ज्वर से बचाव के लिए प्रदेश सरकार द्वारा 1 से 15 अक्टूबर चलाए जाने वाले संचारी रोग नियंत्रण पखवारा के अंतर्गत बुधवार को जिले के मुख्यालय स्थित राजकीय इंटर कॉलेज ललितपुर में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। बुधवार को आयोजित इस कार्यक्रम के अंतर्गत विद्यालय के अध्यापक श्रीकांत खरे द्वारा बच्चों को स्वच्छता व संचारी रोग से बचने की शपथ भी दिलाई गई। इस दौरान विज्ञान प्रवक्ता अमित शुक्ला ने कहा कि  विगत कई वर्षों से पूर्वी उत्तर प्रदेश सहित जनपद में मस्तिष्क ज्वर का प्रकोप बढ़ता जा रहा है।

इससे बड़ी संख्या में बच्चे गंभीर रूप से बीमार और अपंग होते हैं। बीमारी के प्रति जागरूकता न होने से पीड़ितों की मौत तक हो जाती है। इस बीमारी का प्रकोप अप्रैल माह से लेकर अक्टूबर माह तक रहता है। लोगों को इस बीमारी से बचाव और जागरूक करने के लिए 1  से 15 अक्टूबर तक संचारी रोग नियंत्रण पखवारा चलाया जा रहा है। 15 दिवसीय इस पखवाड़े में इस बार कव्वाली और लोकगीत  के साथ ही विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है। इसके बाद विद्यालय की लोकगीत गायक कैलाश शर्मा द्वारा संचारी रोग जाई रोग से बचाने हमें अपनों विद्यालय व घर नामक गीत गाया गया। इसके बाद  ध्रुव सिंह ने छात्रों को बताया कि मोहल्ले में साफ सफाई और स्वच्छता का विशेष ध्यान रखना चाहिए, संचारी रोग के कारण हर वर्ष बहुत से बच्चे और भी लोग काल के गाल में समा जाते हैं ,अत: हमें इसके बारे में जानकारी होना चाहिए और से बचाव के उपायों को भी अपनाना चाहिए, और साफ सफाई और स्वच्छता पर हमें विशेष ध्यान देना चाहिए। मुख्य अतिथि राजकीय इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य राजेंद्र त्रिपाठी ने कहा कि अभियान को ज्यादा सफल बनाने के उद्येश्य से इस अभियान को ज्यादा सफल बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग के अलावा सात शासकीय विभागों को सम्मिलित किया गया किया गया है।

इसी क्रम में आज राजकीय इंटर कॉलेज ललितपुर के सभागार में संचारी रोग नियंत्रण पखवाड़े के तहत लोकगीत प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने छात्रों से सफाई पर विशेष ध्यान देने का आग्रह किया और कहा कि वेक्टर जनित या संचारी रोगों पर नियंत्रण मुक्ता सफाई से ही रखा जा सकता है उन्होंने बच्चों को बताया कि बुखार होने पर तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर जांच कराएं सामान्य पानी की पट्टी सिर बहुत पैर और पेट पर रखें उन्होंने छात्रों का आह्वान किया कि किसी भी प्रकार से झोलाछाप चिकित्सकों से बचे एवं बिना चिकित्सक की सलाह के अनावश्यक औषधियों का सेवन ना करें बुखार के समय पानी एवं तरल पदार्थों जैसे नारियल पानी शिकंजी ताजे फलों का रस इत्यादि का अधिक से अधिक सेवन करें तथा हल्के सूती वस्त्र पहने और कमरे को ठंडा रखें। इस इस दौरान कैलाश शर्मा द्वारा पुन: एक अन्य लोकगीत स्वच्छता का रखियो ध्यान बीमारी से बचे रहो गाया गया जिसको बच्चों द्वारा खूब सराहा गया।

वहीं  वरिष्ठ प्रवक्ता अरुण बाबू  शर्मा ने कहा कि शासन द्वारा इस योजना के तहत पशुपालन विभाग की ओर से सूअर पलकों को प्रेरित कर उनके बाड़े को आबादी से दूर रखने के प्रयास करने के साथ सूअर पलकों को अन्य व्यवसाय के लिये प्रेरित करने का कार्य किया जाएगा। कृषि विभाग की तरफ से मच्छरों को भगाने के लिए ग्रामीणों को मच्छर रोधी पौधों को लगवाने के लिए प्रेरित करेगी। इस दौरान प्रधानाचार्य राजेंद्र त्रिपाठी, वरिष्ठ प्रवक्ता अमित शुक्ला, अरुण बाबू शर्मा, मजीद पठान, के.एस.नरवरिया, मुरलीधर, आलोक प्रकाश सिंह, एलपी विश्वकर्मा, श्रीकांत खरे और सी.एल.सुमन, नरेंद्र ताम्रकार, धु्रव सिंह सिसौदिया, के.के.ताम्रकार, शशांक यादव और कैलाश शर्मा सहित विद्यालय के समस्त अध्यापक और कर्मचारी उपस्थित रहे। 
 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें