< रखैल की नाबालिग बेटी से छेड़खानी में सिपाही फंसा Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News

रखैल की नाबालिग बेटी से छेड़खानी में सिपाही फंसा

चोरी के आरोपी लड़के की मां से एक सिपाही इश्क कर बैठा और इश्क इस कदर परवान चढ़ा कि उसने उसकी मां को बतौर पत्नी रख लिया और बाद में अपनी कथित पत्नी की नाबालिग बेटी को  भी हवस का शिकार बनाने की कोशिश की। जिसके खिलाफ रखैल ने कोतवाली बांदा ने छेड़खानी का मुकदमा दर्ज कराया है। आरोपी सिपाही जनपद गाजीपुर मंे तैनात है।

घटना 6 दिन पहले  शहर कोतवाली अन्तर्गत एक लाज की है। जहां पर आरोपी सिपाही ने अपनी ही रखैल की बेटी को हवस का शिकार बनाने की कोशिश की। घटना की तह पर जाये तो इसकी शुरूआत होती है सन् 2012 मे जब जगदीश नामक सिपाही शहर की बलखण्डीनाका चैकी मंे तैनात था। उसी दौरान जन्माष्टमी के आसपास एक दुकान से कुछ पीतल की मूर्तियां  चोरी हो गई थी।

इस मामले में इसी मोहल्ले में रहने वाले एक ठाकुर मजदूर के बेटे सहित तीन युवको को बलखण्डीनाका पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इस मजदूर के बेटे को छुड़वाने के लिये उसकी पत्नी जगदीश नामक सिपाही के पास बार बार आती रही और तभी वह सिपाही आरोपी युवक की मां को दिल दे बैठा। फिर क्या था लड़के को सिपाही ने छोड़ दिया और उसकी मां से प्रेम प्रसंग चलने लगा।

कुछ ही दिनों में मजदूर को अपनी पत्नी की करतूतें पता लग गई जिससे उसने अपनी पत्नी को छोड़ दिया। पत्नी अपनी नाबालिग बेटी के साथ जगदीश सिपाही के साथ रहने लगी और मजदूर का बेटा अपने पिता के साथ चला गया। सन् 2013 में उक्त सिपाही का स्थानान्तरण हो गया। वह इटावा, मैनपुरी और फतेहपुर में तैनात रहा। अपनी तैनाती के दौरान वह उस महिला को बतौर रखैल तैनाती स्थल में रखे रहा। इस वक्त वह गाजीपुर में पोस्ट है और उसकी रखैल अपनी बेटी के साथ इटावा में रह रही थी। इस बीच महिला की नाबालिग बेटी का इश्क कन्नौज के राज नामक युवक से हो  गया। राज और नाबालिग लड़की एक दूसरे पर मर मिटने को तैयार है।

जब यह बात सिपाही को पता चली तो उसे यह सब नागवार गुजरा। उसने राज को फोन कर लड़की का साथ छोड़ने को कहा लेकिन राज नही माना। बल्कि उसने लड़की और उसकी मां को इटावा से हटाकर कानपुर में एक किराये  का  कमरा दिलाकर उसमें रख दिया। सिपाही किसी तरह अपनी रखैल से मोबाइल के जरिये बात करने में कामयाब हो गया और पता लगाकर कानपुर पहुंच गया जहाँ पर राज व सिपाही के बीच काफी नोंकझोंक हुई। आरोपी सिपाही का कहना है कि लड़की की मां, राज व उसकी बेटी तीनों ने मिलकर मेरे खिलाफ साजिश रची है।

एक सप्ताह पहले महिला ने कहा कि मेरा इलाज करा दो जब मैने कहा कि कानपुर में इलाज करा दूंगा, इस पर उसने बांदा में इलाज कराने की शर्त रखी। मै गत 4 अक्टूबर 2018 को बांदा में आ गया और एक लाॅज में कमरा किराये पर लिया। इसी कमरे मे मैने मां बेटी को बुलाया जहां बाद में मेरे खिलाफ आरोप लगाया गया। बताते चले कि महिला ने कोतवाली पुलिस में दी गयी तहरीर में बताया कि वह अपने पति (सिपाही) और अपनी बेटी के साथ लाॅज में सो रही थी। रात को शोर सुनकर मेरी नींद खुली तो मैने देखा कि मेरी बेटी रो रही थी और सिपाही अपनी ओर उसका हाथ खीच कर अश्लील हरकतें कर रहा था।

तब मेरे शोर मचाने पर लाज के कर्मचारी आये और डायल 100 को फोन किया। पुलिस के आने पर आरोपी सिपाही को कोतवाली पुलिस के हवाले कर दिया गया। इस बीच सूत्रों की माने तो सिपाही और मां बेटियों के बीच समझौते की कोशिशें चलती रही जिसमें पुलिस भी उनका सहयोग देती रही। जब पूरे 6 दिन बाद भी समझौता नही हुआ तो पुलिस  में मंगलवार की रात  आरोपी सिपाही के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर लिया।
 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें