< परिवार नियोजन मां एवं शिशु का स्वस्थ्य होना Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News विश्व जनसंख्या दिवस के मौके पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा परिवार न"/>

परिवार नियोजन मां एवं शिशु का स्वस्थ्य होना

विश्व जनसंख्या दिवस के मौके पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा परिवार नियोजन के अस्थाई साधनों के नवीन उपाय एवं दो बच्चों के बाद स्थाई साधन अपनाने आमजनों को प्रेरित करने के उद्देश्य से जन-जागरूकता रैली, कार्यशाला एवं प्रदर्शनी लगाकर लोगों को छोटा परिवार, सुखी परिवार अपनाने प्रेरित किया गया।

इस मौके पर ‘‘बेहतर कल की शुरूआत, परिवार नियोजन के साथ’’ की थीम पर आयोजित उन्मुखीकरण कार्यशाला में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. आर.के. बजाज ने बताया कि परिवार नियोजन मां एवं शिशु को स्वस्थ्य होना सुनिश्चित करता है। परिवार नियोजन का अर्थ नसबंदी नहीं अपितु दम्पत्ति को यह तय करने योग्य बनाता है कि कब, कैसे व कितने बच्चों को जन्म दिया जाये। परिवार नियोजन का सबसे महत्वपूर्ण लाभ महिलाओं को उच्च जोखिम गर्भावस्था से बचाकर मां एवं शिशु का स्वस्थ्य रखता है। इस दौरान ओजस्वनी नर्सिंग काॅलेज के डायरेक्टर डाॅ. रामचन्द्र, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. तुलसा ठाकुर, सिविल सर्जन डाॅ. ममता तिमोरी, जिला विस्तार एवं माध्यम अधिकारी, खाद्य सुरक्षा अधिकारी राकेश अहिरवाल विशेष रूप से मौजूद रहे।

कार्यशाला दौरान जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. तुलसा ठाकुर ने मौजूद ओस्वनी काॅलेज के छात्र-छात्राओं एवं शहरी आशा कार्यकर्ताओं को परिवार कल्याण साधनों के नवीन अस्थाई उपाय अंतरा एवं छाया के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई। छात्र-छात्राओं की जिज्ञासाओं का समाधान भी किया गया।

रैली निकालकर किया जागरूक

विश्व जनसंख्या दिवस के मौके पर ढोलक की थाप के साथ सजे-धजे कलाकारों की मौजूदगी में जन-जागरूकता रैली भी निकाली गई। रैली में ओजस्वी काॅलेज की नर्सिंग छात्राएं एवं शहरी आशा कार्यकर्ताओं ने सहभागिता दर्शायी। रैली दौरान तख्तियों में लिखे संदेश - छोटो परिवार, सुखी परिवार, मां-बच्चे की सेहत का मंतर-दो बच्चों में तीन का साल का अंतर, परिवार नियोजन के नवीन उपाय छाया, अंतरा तथा दो बच्चों के बाद पुरूष एवं महिला आॅपरेशन कराने संदेश दिया गया।

इस मौके परिवार नियोजन सेवा प्रदायगी संबंधी हैण्डबिल भी वितरित किये गये। रैली में शामिल सारथी रथ में प्रदर्शित परिवार कल्याण के अस्थाई एवं स्थाई साधनों को अपनाने में शासन की आर से दी जाने वाली प्रोत्साहन के बारे में भी जागरूक किया गया। इस दौरान हैण्डबिल भी वितरित किये गये।

रैली मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय से निकाली गई। जिसे मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. आर.के. बजाज, डाॅ. होली, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. तुलसा ठाकुर ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। इस मौके पर जिला विस्तार एवं माध्यम अधिकारी सहित स्वास्थ्य अमला मौजूद रहा।

एमसीएच भवन में लगाई प्रदर्शनी

परिवार कल्याण कार्यक्रम अंतर्गत अस्थाई साधनों की प्रदर्शनी जिला चिकित्सालय के एमसीएच के भवन में लगाई गई। मौजूद परामर्शदाता चेतना असाटी ने ओ.पी.डी. में आने वाले हितग्राही एवं उनके परिजनों तथा नर्सिंग काॅलेज की छात्राओं को परिवार कल्याण के अस्थाई साधनों का अवलोकन कराया साथ ही उन्हें साधनों के उपयोग के बारे में जरूरी समझाईश भी दी।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें