< थाने का घेराव करने पर पूर्व केंद्रीय मंत्री सहित ढ़ाई सौ लोगों पर केस दर्ज Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News राजनीति में अब शुचिता नाम का लोप होता जा रहा है। यही कारण है कि कि"/>

थाने का घेराव करने पर पूर्व केंद्रीय मंत्री सहित ढ़ाई सौ लोगों पर केस दर्ज

राजनीति में अब शुचिता नाम का लोप होता जा रहा है। यही कारण है कि किसी भी मामले को लेकर नेता इतने उग्र हो जाते कि वे शासकीय संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और महिलाओं से भी अभद्रता करने में गुरेज नहीं करते है। उत्तर प्रदेश में झांसी जिले के प्रेम नगर थाना पुलिस की कथित पिटाई से एक युवक की मौत के मामले में थाने का घेराव करने गए पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य सहित 250 प्रदर्शनकारियों के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। हालांकि प्रदीप जैन ने इसे राजनीतिक द्वेष बताया है। प्रेम नगर थानाध्यक्ष अवध नारायण पांडेय ने बताया कि पांच जून को सुनील नामक युवक की मौत के मामले को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता प्रदीप जैन आदित्य के नेतृत्व करीब ढाई से ज्यादा प्रदर्शनकारियों ने थाने का घेराव कर सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था, साथ ही एक महिला सिपाही के साथ अभद्रता कर उसके गहने लूट लिए थे।

उन्होंने बताया कि प्रदीप जैन आदित्य व शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष इम्तियाज हुसैन के अलावा करीब ढाई सौ प्रदर्शनकारियों के खिलाफ थाने में आईपीसी की धारा-147, 149, 152, 186, 189, 332, 341, 353, 395 और लोक संपत्ति निवारण अधिनियम की धारा-3 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है, अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई। उधर, आदित्य ने इसे राजनैतिक द्वेष से दर्ज किया गया मुकदमा बताया है और कहा कि प्रदर्शनकारी शांतिपूर्वक घटना की जांच सीबीआई से कराने की मांग कर रहे थे। पुलिस ने सुनील साहू नामक युवक को पचास हजार की रिश्वत न देने पर पिटाई की थी, जिससे उसकी मौत हो गई है। इस प्रदर्शन में पूर्व मंत्री और भाजपा नेता रविन्द्र शुक्ल और भाजपा महानगर इकाई के अध्यक्ष प्रदीप सरावगी भी शामिल थे, पुलिस ने उनके खिलाफ मुकदमा क्यों नहीं दर्ज किया?

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें