एक समाचार वेबसाइट में प्रकाशित बाँदा विधायक के खिलाफ समाचार का स"/>

रेप के आरोपी को मैंने नहीं छुड़वाया: प्रकाश द्विवेदी

एक समाचार वेबसाइट में प्रकाशित बाँदा विधायक के खिलाफ समाचार का संज्ञान लेते हुए बुन्देलखण्ड न्यूज संवाददाता ने जब बाँदा विधायक प्रकाश द्विवेदी से इस सम्बंध में बात की तो उनका स्पष्ट रूप से कहना था कि इस प्रकार की किसी भी घटना का मुझे संज्ञान नहीं है। उन्होंने कहा कि वे अभी तक दिल्ली में थे। बलात्कार के आरोपी को कब गिरफ्तार किया गया और कब छोड़ा गया, इसकी उन्हें जानकारी ही नहीं है। वे तो उस आरोपी को जानते तक नहीं हैं और न ही उन्होंने पुलिस को आरोपी को छोड़ने के लिए कोई फोन किया और न ही किसी भी प्रकार का कोई दबाव डाला।

आपको बता दें कि मामला पिछले दिनों 12 मार्च को बिसन्डा थाना के अन्तर्गत तेंदुरा गांव में एक दलित महिला के साथ हुए बलात्कार का है, चारों तरफ से थक-हार कर जब उस महिला की रिपोर्ट नहीं लिखी गई तो उस पीड़ित महिला ने राठ की नवनिर्वाचित विधायक मनीषा अनुरागी से न्याय की गुहार लगाई। विधायक मनीषा अनुरागी के एक्शन में आने के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। परन्तु एक समाचार वेबसाइट के दावे के मुताबिक बाँदा पुलिस को फोन करके आरोपी को छुड़वाने वाले बाँदा विधायक प्रकाश द्विवेदी हैं।

लेकिन बाँदा विधायक प्रकाश द्विवेदी से जब इस आरोप के सम्बन्ध में बात की तो उन्होंने एक सिरे से इस मनगढ़न्त आरोप को निराधार बताया। प्रकाश द्विवेदी का कहना है कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार किसी भी जाति-धर्म की सरकार नहीं है, इस सरकार में अपराधी चाहे किसी भी जाति का हो, उसको एक अपराधी की तरह ही देखा जायेगा। भाजपा सरकार का नारा है, ‘सबका साथ सबका विकास’। उन्होंने किसी भी अपराधी को छोड़ने के लिए पुलिस को नहीं कहा, और यदि पुलिस को ऐसा फोन कहीं से आता भी है तो पुलिस को इस बात की पूरी तस्दीक कर लेना चाहिए कि फोन करने वाला कौन व्यक्ति है। कम से कम पुलिस को एक बार उनसे कन्फर्म करना चाहिए था। उन्होंने फिर से स्पष्ट किया कि उन्हें उस पीड़ित हरिजन महिला के साथ पूरी हमदर्दी है, उसे न्याय मिलना चाहिए। बलात्कार की घटना को अंजाम देने वाले अपराधी को किसी भी हालत में बख्शा नहीं जायेगा।



चर्चित खबरें