< व्यावसायिक परीक्षा मंडल नोर्मलाईजेशन पद्धति का विरोध Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News राज्यपाल के नाम प्रतियोगी परीक्षार्थियों  ने सौपा ज्ञ"/>

व्यावसायिक परीक्षा मंडल नोर्मलाईजेशन पद्धति का विरोध

राज्यपाल के नाम प्रतियोगी परीक्षार्थियों  ने सौपा ज्ञापन

व्यावसायिक परीक्षा मंडल भोपाल द्वारा आयोजित की जाने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं में नोर्मलाईजेशन पद्धति के विरोध में आज जिला मुख्यालय पन्ना में सैकड़ो की संख्या में प्रतियोगी परिक्षाओं में भाग लेने वाले अभ्यार्थियों युवाओं द्वारा राज्यपाल के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौपा गया। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव वीरेन्द्र द्विवेदी के नेतृत्व में आयोजित इस विरोध प्रदर्शन के दौरान अभ्यार्थियों द्वारा नोर्मलाइजेशन सिस्टम के विरोध में जम कर नारेबाजी की गयी तथा कहा कि योग्य अभ्यार्थियों का शोषण करने वाली पद्धति है इस प्रक्रिया के अंतर्गत आयोजित की गयी अधिकतम प्रतियोगी परीक्षाओं में नोर्मलाईजेशन अंको के निधारण के फल स्वरूप वास्तविक प्राप्त अंको के स्थान पर ७ से ८ तक अंक घटाये एवं बढ़ाये गये है जिससे प्रतियोगी परीक्षा में कम अंक वाले छात्रों के अधिक अंक हो जाते है और अधिक अंक वाले छात्रों के कम अंक हो जाते है और वास्तविक योग्यता जो कि प्रश्न पत्र के उत्तरों के आधार पर प्रतियोगियों को प्राप्त होते है और वास्तविक अंकों के आधार पर प्रवीण्यता सूची से चयन न होकर नोर्मलाईजेशन के अंको के आधार पर चयन हो जाता है उससे पूरी प्रतियोगी परीक्षा की पारदर्शिता पर ही प्रश्न चिन्ह खड़ा हुआ है।

प्रदर्शन करने वाले अभ्यार्थियों ने नारेबाजी और विरोध करने के बाद जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय में राज्यपाल के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौपते हुये मांग की गयी कि पीईबी द्वारा आयोजित प्रतियोगी परीक्षाओं में नोर्मलाईजेशन पद्धति बंद करते हुये ऐसी पद्धति लागू की जाये जिसमें सभी उम्मीदवारों को एक समान मौका मिले। इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव वीरेन्द्र द्विवेदी ने कहा कि नोर्मलाईजेशन सिस्टम का पूरे प्रदेश में अभ्यार्थियों द्वारा विरोध किया जा रहा है पन्ना जिले ही नही अपितु सभी जिलों में इस संदर्भ में प्रदर्शन एवं ज्ञापन दिये जा रहे है। सरकार की जिम्मेदारी बनती है कि प्रतियोगी परीक्षाओं को पारदर्शी बनाया जाये।

उन्होने कहा कि व्यापाम की परीक्षाओं में किस तरह से बेरोजगारों के साथ छलावा हो चुका है। सरकार के संरक्षण में व्यापाम में बड़ा घोटाला हुआ और लाखों की संख्या में अभ्यार्थियों को इसका नुकसान उठाना पड़ा इतने बड़े भ्रष्टाचार के बाद भी सरकार द्वारा प्रतियोगी परीक्षायें जिनसे सरकारी नौकरी मिलती है के सिस्टम को पारदर्शी नही बनाया गया है। इसको लेकर कांग्रेस पार्टी लगातार आंदोलन करते हुये बेरोजगार युवाओं एवं छात्र-छात्राओं के हितों को लेकर लड़ाई लड़ रहे है। आयोजित विरोध प्रदर्शन कार्यक्रम में सम्मिलित होने वाले युवाओं में प्रमुख रूप से धीरेन्द्र पाठक, पुष्पेन्द्र शुक्ला, रावेन्द्र सहित काफी संख्या में अभ्यार्थी उपस्थित रहे।
 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें