< फार्माशिष्ट व गार्ड करता है प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में इलाज Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News चार्ज लेने के बाद ग्रामीणों ने नही देखा चिकित्सक को

"/>

फार्माशिष्ट व गार्ड करता है प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में इलाज

चार्ज लेने के बाद ग्रामीणों ने नही देखा चिकित्सक को

ग्रामीण नही जानते कि अस्पताल में महिला चिकित्सक भी तैनात है

चिकित्सा कर्मचारियों की लापरवाही के चलते मरीजों को चिकित्सकीय सुविधाओं का लाभ नही मिल पा रहा है। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में कई कई दिनों से चिकित्सक नही पहुंचते हैं। वहां तैनात गार्ड चिकित्सकों की पट्टी आदि कर मरीजों को दबाये बांट उनकी जिन्दगी के साथ खिलवाड कर रहे है। इसके बाद भी स्वास्थ्य विभाग खामोश बना हुआ है।

बता दे कि कबरई क्षेत्र के पहरा गाव में स्थित  प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कई मे कई दिनों से चिकित्सक डॉ मनीषा त्रिपाठी के दर्शन तक नही हुये है। चिकित्सक का इंतजार करते हुये मरीज थक हार कर अपने घर व अन्यत्र प्राईवेट अस्पतालों में चले जाते है। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में मरीजों को दवा लेने के लिये कई घंटों तक इंतजार करना पड़ता है। अस्पताल में सिर्फ वहां का गार्ड या फिर कंपाउंडर ही इलाज करता है। अभी तक लोगों को यह भी ज्ञात नही हुआ कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में एक महिला डॉक्टर भी है। क्योंकि जब से महिला डॉक्टर का वहां पर ट्रांसफर हुआ है वह लोगों के मुताबिक एक भी दिन अपनी ड्यूटी पर नहीं पहुंची।

इस बारे मे जब ग्रामीणों से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि हमें तो यह जानकारी ही नही कि यहाँ लेडीज डाक्टर भी है। हम तो कम्पाउण्डर को ही चिकित्सक समझते थे। उन्होने बताया कि यहाँ पर जो गार्ड़ का काम करता है और जो फार्माशिष्ठ है वही हमें दवा देता है। आखिर अब ऐसी दशा में मरीजों को उचित उपचार मिले तो आखिर कैसे। सरकार ने जनता की मदद के लिये लाखों की लगात खर्च कर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का निर्माण कराया तथा लाखों रुपये इन पर प्रतिमाह खर्च कर चिकित्सक व कम्पाउण्डर भी रखे। परन्तु विभागीय कर्मचारियों के कारण सरकार की मंशा पर पानी फेरा जा रहा है।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें