< बलात्कार के आरोपी भाजपा नेता संतोष पारासर ने किया सरेंडर Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News बलात्कार के आरोपी एवं भाजपा खेल प्रकोष्ट के जिला संयोजक संतोष प"/>

बलात्कार के आरोपी भाजपा नेता संतोष पारासर ने किया सरेंडर

बलात्कार के आरोपी एवं भाजपा खेल प्रकोष्ट के जिला संयोजक संतोष पारासर ने आज अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के कार्यालय में अपने ड्राईवर सहित आत्मसमर्पण कर दिया। आत्मसमर्पण करने के बाद नौगांव पुलिस पूछताछ के लिए नौगांव ले गई। भाजपा नेता संतोष पारासर पर और उसके ड्राईवर दीनदयाल पारासर पर 15 हजार का इनाम घोषित था क्योंकि फरवरी 2018 में आरोपी संतोष पारासर ने रिश्ते की भतीजी के साथ बलात्कार पिस्टल की नोंक पर किया था। रिपोर्ट पर नौगांव थाने में संतोष पारासर पर मामला दर्ज किया गया था। गिरफ्तारी न होने पर उस पर और ड्राईवर पर 15 हजार का इनाम घोषित किया गया था।

ज्ञातव्य है कि जिला पंचायत सदस्य के पति एवं भाजपा खेल प्रकोष्ठ के अध्यक्ष संतोष पारासर निवासी ग्राम बरा ने फरवरी 2018 में हैवानियत की सीमाओं को पार करते हुए चाचा-भतीजी के रिश्ते को तार-तार कर दिया था क्योंकि उन्होंने अपने घर के सामने ही रहने वाली एक युवती जो रिश्ते में संतोष पारासर को चाचा कहती थी उसे अपनी हवश का शिकार बना डाला और रिपोर्ट करने पर परिवार को जान से खत्म करने की धमकी दी थी लेकिन जब युवती ने आत्महत्या करने की ठान ली तब उसकी मां ने बहला-फुसलाकर पूछा तब युवती ने अपनी बीती पूरी कहानी सुना दी। पुलिस ने संतोष पारासर सहित एक अन्य  के खिलाफ दुष्कर्म सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया था।

जानकारी के अनुसार ग्राम बरा निवासी एक परिवार की तीन पुत्रियां हैं जो नौगांव में रहकर पढ़ाई कर रही थीं। 24 फरवरी को दो बहनें अपने गांव बरा में थीं और एक बहन नौगांव में थी तभी उनके घर के सामने रहने वाले संतोष पारासर भाजपा खेल प्रकोष्ठ अध्यक्ष एवं जिला पंचायत सदस्य पति ने रात 9 बजे नौगांव में रह रही लडक़ी को फोन लगाया कि तुम्हारे पापा गांव बुला रहे हैं मेरे साथ गांव चलो और अपनी गाड़ी लेकर लडक़ी के कमरे पहुंच गया और लडक़ी को अपनी गाड़ी में बैठाकर बरा की ओर जाने लगा। जब आरोपी बिजावर विधायक गुड्डन पाठक के फार्म हाउस के सामने पहुंचा तो अपनी गाड़ी रोक दी और रिश्ते की भतीजी को डरा धमकाकर मुंह काला किया और बाद में यह धमकी दी कि यदि इस घटना की जानकारी किसी को बताई तो जान से पूरे परिवार को खत्म कर दूंगा और वापस नौगांव लाकर उसके कमरे में छोडक़र चला गया। घटना के दूसरे दिन 25 फरवरी को जब उसी दो बहनें ग्राम बरा से नौगांव आईं और अपनी बहन की हरकत देखकर पिता और मां को खबर दी कि बहन आत्महत्या करने के लिए कह रही है वह जीना नहीं चाहती है। यह खबर पाकर पिता नौगांव पहुंचा और लडक़ी को लेकर गांव चला अया। आत्महत्या की वजह पूछी गयी लेकिन लडक़ी ने कुछ नहीं बताया और यह कहा कि आप लोग अपना काम करें मैं अपना काम कर रही हूं, और मौका पाकर लडक़ी कमरे गई और  दुपट्टे से फांसी लगाने का प्रयास किया। तभी मां ने देख लिया और उसको बहला-फुसलाकर कमरे के बाहर लाई लेकिन लडक़ी ने यह कहा कि मैंने यदि सच्चाई बता दी तो या तो मेरा पिता मर जायेगा या फिर मैं मर जाऊंगी। लेकिन मां ने काफी कुरेदकर लडक़ी से पूछा तो लडक़ी ने पूरी घटना मां को बताई।

यह घटना सुनकर लडक़ी की मां ने अपने भाइयों को फोन लगाया और जब भाई ग्राम बरा पहुंचे तो उन्हें पूरी कहानी बताई गयी। लडक़ी के मामा अपने बहनोई और भांजी को साथ लेकर नौगांव थाने पहुंचे और पुलिस में शिकायत की। लेकिन तभी से आरोपी फरार चल रहा था और पुलिस ने आरोपी संतोष पारासर सहित उसके ड्राईवर पर 15-15 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जयराज कुबेर ने भाजपा नेता संतोष पारासर और उसके ड्राईवर के गिरफ्तार होने और बलात्कार में उपयोग की गई फार्चूनर गाड़ी जप्त करने की पुष्टि की।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें