< मानसून सिर पर, आधी अधूरी नालों की सफाई Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News मानसून आने का समय हो गया है लेकिन शहर के नालों की सफाई आधी अधूरी ह"/>

मानसून सिर पर, आधी अधूरी नालों की सफाई

मानसून आने का समय हो गया है लेकिन शहर के नालों की सफाई आधी अधूरी ही है। इस लापरवाही का खामियाजा बा¨शदों को भुगतना पड़ सकता है। बारिश में जलभराव की समस्या उत्पन्न हो सकती है। जबकि हर वर्ष इस समय तक लगभग सभी नालों की सफाई बेहतर ढंग से हो जाया करती थी। साथ ही मलंगा नाले की सफाई पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इसका पानी अवरुद्ध हुआ तो बाढ़ की संभावना से इन्कार नहीं किया जा सकता है।

शुक्रवार को एक घंटे की बारिश ने शहर की सफाई व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी। बजबजाती नालियों की गंदगी सड़क पर आ गई। घंटों तक पानी नहीं निकला। कई जगहों पर तो लोग घरों के अंदर ही कैद हो गए। कारण घर के बाहर बहने वाली गंदगी को देख लोगों ने बाहर निकलने की जहमत ही नहीं उठाई। बारिश से पहले शहर के सभी प्रमुख छोटे, बड़े नालों की सफाई का कार्य करा लिया जाता था लेकिन इस बार तैयारी आधी अधूरी ही दिखाई दे रही है। जलभराव की दिक्कत को लेकर लोग अभी से परेशान होने लगे हैं।

राजेंद्र नगर सहित कई नाले गंदगी से पटे पड़े हैं। कूड़ा कचरा और पालीथीन अटा हुआ है। इससे पानी का प्रवाह पूरी तरह से नहीं हो पाएगा। बारिश हुई तो कई मोहल्लों में जलभराव की समस्या विकट रूप ले सकती है। मोहल्ला सुशील नगर, राजेंद्र नगर, इंदिरा नगर, शांति नगर में हर बारिश में जलभराव होता है। इस बार नाला सफाई के नाम पर खानापूरी हुई है। जिससे इन मोहल्लों में स्थिति खराब होने की संभावना बनी हुई है।

साथ ही जिले का सबसे बड़ा मलंगा नाला जो कि शहर से होकर निकला है इसकी साफ सफाई पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इसका पानी अवरुद्ध होने का मतलब है कि बाढ़ का खतरा। हालांकि यह नाला नगरपालिका का नहीं बल्कि ¨सचाई विभाग का है। लेकिन इस ओर जिम्मेदारों का ध्यान तो होना ही चाहिए। अब से तीन चार वर्ष पहले बाढ़ आ भी चुकी है।

जिम्मेदार बोले : नालों की सफाई को लेकर नगरपालिका चेयरमैन अनिल बहुगुणा का कहना है कि नालों की सफाई कराई जा चुकी है। इसमें किसी तरह की उदासीनता नहीं की गई है। लोग कूड़ा आदि डाल देते हैं जिससे नालों में गंदगी का अंबार फिर से जमा हो गया है। शहर का ऐसा कोई नाला नहीं है जिसकी सफाई न कराई गई हो। अगर फिर भी इस तरह की कहीं स्थिति है तो सफाई करवा दी जाएगी। जनमानस को कतई परेशान नहीं होने दिया जाएगा।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें