< धोखाधड़ी करने वाले भारतीय यूके में क्यों ले रहे हैं शरण ? Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News 2013 से अब तक भारत से गए 5,500 से ज्यादा लोगों ने ब्रिटेन में रा"/>

धोखाधड़ी करने वाले भारतीय यूके में क्यों ले रहे हैं शरण ?

2013 से अब तक भारत से गए 5,500 से ज्यादा लोगों ने ब्रिटेन में राजनीतिक शरण के लिए अर्जी दी

नीरव मोदी, ललित मोदी, विजय माल्या बस ऐसे तीन उदाहरण ही नहीं हैं जिन्होंने भारत से भागकर यूके में शरण मांगी हो। दरअसल, यह फेहरिस्त काफी लंबी है। 2013 से लेकर अब तक भारत से गए 5,500 से ज्यादा लोगों ने ब्रिटेन में राजनीतिक शरण के लिए अर्जी दी। खास बात यह है कि इनमें से सभी अपराधी नहीं हैं। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि आखिर भारतीयों के लिए लंदन ही सीधा और आसान रास्ता क्यों बनता जा रहा है? यूरोपियन कन्वेंशन ऑन ह्यूमन राइट्स  पर यूके ने दस्तखत किए हैं और इसके तहत अगर यूके की अदालतों को ऐसा लगता है कि किसी व्यक्ति को प्रत्यर्पित किया गया तो उसे प्रताड़ित किया जा सकता है या मौत की सजा दी जा सकती है या फिर राजनीतिक कारणों से व्यक्ति का प्रत्यर्पण किया जा रहा है तो वह प्रत्यर्पण के अनुरोध को खारिज कर सकती है। कुछ चर्चित भारतीयों ने यूके में शरण मांगी तो उसकी मुख्य वजह पैसे से जुड़ी थी। म्यूजिक डायरेक्टर नदीम सैफी हों, पूर्व आईपीएल प्रशासक ललित मोदी, किंगफिशर एयरलाइंस के विजय माल्या या हाल ही में हीरा कारोबारी नीरव मोदी ये सभी भारतीयों बैंकिंग सिस्टम के करीब 2 अरब डॉलर के सबसे बड़े फ्रॉड करने के आरोपी हैं।

एक रिपोर्ट के मुताबिक अरबपति हीरा कारोबारी नीरव मोदी ने हाल ही में यूके में राजनीतिक शरण मांगी है। उसने दावा किया है कि अगर वह भारत लौटा तो उसका राजनीतिक उत्पीड़न किया जा सकता है। भारत और यूके ने 1993 में प्रत्यर्पण संधि पर हस्ताक्षर किए थे लेकिन इस पर प्रगति नहीं दिखाई दी। एक तरफ भारत ने 2008 में मर्डर केस में आरोपी यूके के नागरिक मनिंदर सिंह कोहली को प्रत्यर्पित किया तो वहीं यूके ने भारत के प्रत्यर्पण के सभी अनुरोध को रोक रखा है। इसमें ब्रिटिश नागरिक रेमंड वर्ले का नाम भी शामिल है जो गोवा में बाल शोषण का आरोपी है। अगर नीरव मोदी के अनुरोध को मंजूर किया जाता है तो वह वहां चिंता मुक्त होकर कम से कम 5 साल तक रह सकता है। उसके बाद इसे आगे भी बढ़ाया जा सकता है।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें