< ट्रेनों में अवैध तरीके से हो रहा था तेंदू पत्ते का परिवहन Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News वन विभाग को मददगार बनी जीआरपी पुलिस

ट्रेनों में अवैध तरीके से हो रहा था तेंदू पत्ते का परिवहन

वन विभाग को मददगार बनी जीआरपी पुलिस

पच्चीस बोरा तेंदू पत्ता जब्त कर किया वन विभाग के हवाले

पुलिस अधीक्षक रेलवे अनुभाग झाँसी हिमांशु कुमार के निर्देशों तथा पुलिस उपाधीक्षक धर्मेन्द्र कुमार के मार्गदर्शन में थानाध्यक्ष जीआरपी संजय कुमार सिंह के अथक प्रयासो से ट्रेनो के माध्यम से अवैध रुप से तेंदू पत्ता के परिवहन की शिकायत पर तत्परता, प्रथम वरीयता के आधार पर कार्यवाही करते हुए रेलवे स्टेशन के बुकिंग हाल के पास सरकुलेटिंग एरिया से 25 बोरा तेंदू पत्ता बरामद कर वन विभाग को सुपुर्द कर शासकीय कोष का कम से कम 50 हजार रुपया क्षति होने से रोक एक सराहनीय कार्य किया गया।

वन विभाग की लापरवाही से प्रतिदिन लाखों रुपया का तेंदू पत्ता अवैध रुप से तोडक़र उसका परिवहन ट्रेन के माध्यम से किये जाने की शिकायत पुलिस अधीक्षक रेलवे जीआरपी अनुभाग झाँसी को प्राप्त होने पर अनुभाग झाँसी के सभी थानो को इस ओर ठोस एवं प्रभावी कार्यवाही किये जाने के निर्देश प्राप्त हुए थे। थानाध्यक्ष जीआरपी संजय कुमार सिंह द्वारा पुलिस अधीक्षक के आदेश के क्रम में थाना स्तर पर टीम का गठन कर उक्त अवैध परिवहन की शत प्रतिशत रोकथाम हेतु ठोस प्रयास करते हुए प्रतिदिन मय हमराही आरक्षी इमामुद्दीन, आरक्षी मो.अब्दुल समद के रेलवे स्टेशन, जीरौन, जाखलौन, धौर्रा व आने जाने वाली ट्रेनो की सघन चैकिंग की जा रही थी। थानाध्यक्ष द्वारा मय हमराही बल के प्रतिदिन की जा रही कार्यवाही की भनक अवैध परिवहन कराने वाले व्यापारियों को मिल जाने के कारण वह भी सतर्क हो गये और प्रतिदिन की जा रही चैकिंग व गस्त में निराशा ही हाथ लगी।

सोमवार को थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह मय हमराह आरक्षी इमामुद्दीन, आरक्षी 69 मो0 अब्दुल समद के रेलवे स्टेशन जीरौन में वास्ते रोकथाम अवैध परिवहन रवाना हुए। तभी मुखबिर से सूचना मिली कि रेलवे स्टेशन से करीब 25 बोरा तेंदू पत्ता किसी ट्रेन से बाहर जाने की सम्भावना है। प्राप्त सूचना पर तुरन्त हरकत पर आकर थानाध्यक्ष द्वारा मय टीम के तुरन्त लौटकर रेलवे स्टेशन के चप्पे चप्पे की सघन चैकिंग करना प्रारम्भ कर दी तथा सहायता हेतु थाने में मौजूद उप निरीक्षक शफक्कत हुसैन को भी बुला लिया गया। सम्पूर्ण पुलिस टीम जब चैकिंग करते हुए बुकिंग हाल के पास पहुंची तो वहाँ बुकिंग हाल की दीवार के पीछे आड़ में सरकुलेटिंग एरिया में करीब 25 बोरा पृथक पृथक पेड की दंगाल और पत्तियों से ढके रखे हुए थे, जिन्हे छिपाने का भरसक प्रयास किया गया था परन्तु थानाध्यक्ष की तेज नजरो से नही बच सके। थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह द्वारा तुरन्त मय टीम के उक्त सभी बोरो को खुलवाकर देखा गया तो सभी बोरो के अन्दर तेंदू के पत्ते रखे हुए थे जिनकी बाजार में कीमत कम से कम 50,000रुपया आकी जा रही है। उक्त बोरो के स्वामी को काफी तलाश किया गया परन्तु कोई नही मिला। तत्पश्चात उक्त सभी बोरों को कब्जा पुलिस में लेकर थाना लाया गया तथा वन विभाग ललितपुर को बरामदगी के सम्बन्ध में सूचना दी गयी। वन विभाग ललितपुर के डिप्टी रेंजर प्रागीलाल व एसआई कमलापत त्रिपाठी तथा माली फूल सिंह के थाना हाजा उपस्थित आने पर उन्हे उक्त बरामद माल सुपुर्द किया गया।

थानाध्यक्ष जीआरपी संजय कुमार सिंह द्वारा पुलिस अधीक्षक रेलवे अनुभाग झाँसी के प्राप्त आदेश निर्देशों पर विशेष प्रयास कर एक टीम का गठन कर प्रतिदिन की जा रही चैकिंग व गुप्तचरों के माध्यम से अवैध परिवहन करने वालो के सम्बन्ध में संकलित की जा रही सूचनाओं का परिणाम रहा कि भारी मात्रा में तेंदू पत्ता को बरामद कर कम से कम 50,000रुपया की शासकीय कोष की हानि को होने से रोकने में सफलता हासिल हुई। थानाध्यक्ष द्वारा की गयी इस कार्यवाही पर डिप्टी रेंजर ललितपुर द्वारा थानाध्यक्ष व उनकी टीम की भूरि भूरि प्रशंसा की गयी। उन्होने कहा कि जंगलो से तेंदू पत्ता की चोरी करवाकर व्यापारी ट्रेनो के माध्यम से अवैध रुप से उसका परिवहन करते हैं, जिस सम्बन्ध में आस पास के सभी जीआरपी थानो से इसकी रोकथाम हेतु मदद माँगी गयी परन्तु किसी द्वारा कोई ठोस प्रयास न किये जाने से इस पर अंकुश नही लग सका। परन्तु आप द्वारा विशेष टीम का गठन कर धरातलीय कार्यवाही कर अवैध परिवहन करने वालो को कड़ा संदेश देते हुए उनकी रीढ़ तोडने का सफल प्रयास कर एक सराहनीय कार्य किया गया।

थानाध्यक्ष जीआरपी ललितपुर संजय कुमार सिंह द्वारा रेलवे में होने वाले अपराधों की रोकथाम के अलावा वन विभाग से सम्बन्धित बरामदगी किये जाने की सर्वत्र प्रशंसा की।

About the Reporter

  • मोहम्मद नसीम

    जनपद ललितपुर में पत्रकारिता का एक लम्बा अनुभव लिए मोहम्मद नसीम की पारिवारिक पृष्ठभूमि भी इसी क्षेत्र से सम्बन्ध रखती है। राजनीतिक व सामाजिक मुद्दों पर इनकी गहरी पकड़ है।, ग्रेजुएट

अन्य खबर

चर्चित खबरें