< पृथ्वी की प्राकृतिक सम्पदा बनाये रखने की अत्यन्त आवष्यकता Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News प्रकृति के साथ मित्रवत व्यवहार रखकर पर्यावरण को प्रदूष"/>

पृथ्वी की प्राकृतिक सम्पदा बनाये रखने की अत्यन्त आवष्यकता

प्रकृति के साथ मित्रवत व्यवहार रखकर पर्यावरण को प्रदूषण से बचाया जा सकता है।

पंचज (जल, जंगल, जमींन, जानवर और जन) के बीच परस्परपूरकता एवं समन्वय स्थापित करके ही पर्यावरण संरक्षरण किया जा सकता है।

दीनदयाल शोध संस्थान द्वारा संचालित जन षिक्षण संस्थान, चित्रकूट द्वारा ग्राम कल्ला में विष्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर जन जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन रोजगार प्रेरक, ग्राम संयोजक दम्पत्ति, कृषि ज्ञानदूत एवं तरूण मण्डल के सहयोग से किया गया । कार्यक्रम की अध्यक्षता आरसेटीई इलाहाबाद बैंक कर्वी के निदेषक रामनाथ प्रसाद गुप्ता जी ने की तथा मुख्य अतिथि दीनदयाल शोध संस्थान के सचिव डाॅ0 अषोक पाण्डेय जी द्वारा किया गया। कार्यक्रम के शुभारम्भ में वक्ता के रूप में बोलते हुए डा0 अषोक पाण्डेय ने संस्थान द्वारा चलाई जा रही विभिन्न गतिविधियों एवं प्रषिक्षणो की विस्तृत जानकारी प्रदान की व पर्यावरण संरक्षण के लिए कहा कि पंचज (जल, जंगल, जमींन, जानवर और जन) के बीच परस्परपूरकता एवं समन्वय स्थापित करके ही पर्यावरण संरक्षरण किया जा सकता है।

आरसेटीई के निदेषक रामनाथ प्रसाद गुप्ता जी ने अपने उद्बोधन में कहा कि  नदियो को प्रदूषित होने से बचाने के लिए उनमें कूड़ाकरकट या पूजन सामग्री न फेंके ताकि जीवनदायिनी नदियां मैली होने से बचीं रहे तथा मृत जानवरो को खुले स्थान में न फेंके । व्यक्तिगत वाहनो का उपयोग कम से कम करें । पृथ्वी की प्राकृतिक सम्पदा बनाये रखने की अत्यन्त आवष्यकता है । हमारी पृथ्वी कितनी खूबसूरत है इसकी सुन्दरता को बनाये रखने की आवष्यकता है इसके लिए पर्यावरण संरक्षण जरूरी है। ग्राम संयोजक दम्पत्ति भगवानदीन ने कहा कि प्रकृति के साथ मित्रवत व्यवहार रखें और खेतो में कीटनाषको, रासायनिक उर्वरको का उपयोग कम से कम करें तथा जैविक एवं हरीखाद उपयोग करके धरती को बंजर होने से बचाकर पर्यावरण संरक्षित किया जा सकता है ।

सहायक परियोजना समन्वयक अनिल सिंह ने जन षिक्षण संस्थान के संदर्भ में होने वाले कार्यों की संक्षिप्त जानकारी दी और पौधरोपण अधिक से अधिक करने की सलाह दी। मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए राजेन्द्र सिंह ने कहा कि पर्यावरण प्रदूषण के कारण हजारो प्रजातियां विलुप्त होने के कगार पर आ गई है लगभ एक अरब लोग जंगलो पर आज आजीविका हेतु आश्रित हैं । भारत में जल तथा वायु प्रदूषण अत्यधिक मात्रा में बढ़ रहा है । बाहर निकलते समय घर के सभी विद्युत उपकरणो को बंद करके जायें, पालीथीन के प्रयोग से पशु अकारण मौत के गाल में जा रहे है तथा जमींन की उर्वराश्षक्ति में प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है अतः पालीथीन का उपयोग न करें। इसके अतिरिक्त यूको बैंक के कार्यकर्ताओं ने घर-घर जाकर बचत खाता खुलवाया।

कार्यक्रम का संचालन समाजषिल्पी दम्पत्ति अनिल शुक्ला ने तथा अभार प्रदर्षन सुघर सिंह ने किया । कार्यक्रम में आरसेटीई के प्रषांत कुषवाहा, अनूप पटेल और किषोरीषरण पटेल सहित ग्राम से सैकड़ो गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

About the Reporter

  • राजकुमार याज्ञिक

    चित्रकूट जनपद के ब्यूरो चीफ एवं भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के जिलाध्यक्ष राजकुमार याज्ञिक चित्रकूट जनपद के एक वरिष्ठ पत्रकार हैं। पत्रकारिता में स्नातक श्री याज्ञिक मुख्यतः सामाजिक व राजनीतिक मुद्दों पर अपनी गहरी पकड़ रखते हैं।, .

अन्य खबर

चर्चित खबरें