< चित्रकूट जिला कांग्रेस में अलग ज्ञापन, अलग आंदोलन का अर्थ ? Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News चित्रकूट कांग्रेस की जिला इकाई में कुछ बड़ी गड़बड़ी की आशंका वा"/>

चित्रकूट जिला कांग्रेस में अलग ज्ञापन, अलग आंदोलन का अर्थ ?

चित्रकूट कांग्रेस की जिला इकाई में कुछ बड़ी गड़बड़ी की आशंका वाली चर्चा गरम हो रही है। इस चर्चा के जिम्मेदार कुछ दृश्य हैं , जिसमें जिलाध्यक्ष पंकज मिश्र द्वारा जिलाधिकारी को जल समस्या हेतु ज्ञापन देना और फिर पुनः उसी समस्या के लिए कांग्रेस महिला नेत्री रंजना पाण्डेय द्वारा मय समर्थक जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपना। इस बीच कांग्रेस ने विश्वासघात दिवस से लेकर मंहगाई पर आंदोलन किए , तो रंजना पाण्डेय का मंहगाई के विरूद्ध आंदोलन अलग से किया जाना एवं अलग तस्वीर दिखना सवालों के घेरे में ला खड़ा करता है कि कांग्रेस के अंदर सबकुछ ठीक-ठाक है या नहीं ? हालांकि किसी भी दल का कार्यकर्ता स्व इच्छा से कार्यक्रम आयोजित कर सकते हैं परंतु आंदोलन और खबर का आधार शीर्ष नेतृत्व व जिला नेतृत्व के निर्देश व तत्वाधान से बना करता है। जहाँ एक और जिलाध्यक्ष स्वयं कार्यक्रम आयोजित कर रहे हैं , वहीं दूसरी ओर अन्य कार्यकर्ता कार्यक्रम आयोजित करें और खबरों में जिलाध्यक्ष का प्रसंग व नाम नदारद होने के साथ तस्वीर पर भी ना दिखना बड़ा सवाल खड़ा करता है ?

जिस कांग्रेस ने विश्वासघात दिवस मनाया , आखिर वहाँ विश्वास की परंपरा कितनी जीवंत है या नहीं यह चुनौती जिला कांग्रेस के अंदर बनी हुई है। अगर सुर्खियों वाले कारणों पर जाएं तो यकीनन रार विधानसभा चुनाव के समय की कही जा रही है। अलबत्ता लोगों का यह भी मानना है कि कोई बड़ी राजनीतिक साजिश नहीं हुई होती और कांग्रेस किसी ब्राह्मण नेता को टिकट प्रदान करती तो बीजेपी उम्मीदवार को टक्कर मिलती और संभव होता कि ब्राह्मणों की नाराजगी का लाभ मिलता तो यहाँ कांग्रेस का हाथ लहरा सकता था।

खैर यह एक दल के अंदुरूनी मामले हैं , किन्तु जिस प्रकार से हाल फिलहाल अलग अलग नारेबाजी व आंदोलन दिख रहे हैं , तो दलीय कार्यकर्ता और जिम्मेदार नेतृत्व भूल ना करे कि जनता कुछ समझ नहीं रही। जनता और राजनीतिक विश्लेषक हर पहलू को समझते हैं। चर्चा तो बड़ी जोर की चल रही है , परंतु देखने योग्य होगा कि भविष्य में जिला कांग्रेस के अंदर विश्वास पनप पाता है अथवा आपसी मतभेद के चलते राष्ट्रीय स्तर पर कमजोर कांग्रेस जिले पर शनैः शनैः और कमजोर होती चली जाएगी अथवा मजबूत होगी।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें