< रिश्तेदारों में बांटी जा रहीं मलाईदार रेबडिय़ा : कांग्रेस Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News बिना अनुभव करोड़ों के काम देकर रिश्तेदार बन गया ‘ए’ क्ल"/>

रिश्तेदारों में बांटी जा रहीं मलाईदार रेबडिय़ा : कांग्रेस

बिना अनुभव करोड़ों के काम देकर रिश्तेदार बन गया ‘ए’ क्लास ठेकेदार

नगर कांग्रेस ने नगर पालिका अध्यक्ष पर लगाये गंभीर आरोप

डीएम को ज्ञापन भेजकर उठायी जांच कर ठोस कार्यवाही की मांग

अरे वाह ! काश मैं भी नपाध्यक्ष का रिश्ते-नातेदार होता तो करोड़ों के ठेके बिना किसी कार्य अनुभव के मिल जाते। यह बात आप सभी यह खबर पढक़र सोचेंगे। क्योंकि ललितपुर नगर पालिका परिषद में कुछ ऐसा ही देखने और सुनने में आया है। बिना किसी कार्य अनुभव के रिश्तेदार को करोड़ों रुपये का ठेका दिये जाने, विद्युत परिचालन का ठेका किसी निजी कम्पनी को देकर नपा कर्मियों से कार्य कराये जाने और सुम्मेरा तालाब में गहरीकरण कर पार्क बनाने के नाम पर सुविधा शुल्क लेकर मिटटी का उठान कराने के गंभीर आरोप लगाये गये हैं। इन आरोपों को लगाते हुये नगर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष हरीबाबू शर्मा के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने एक ज्ञापन जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह को भेजा है।

ज्ञापन में कांग्रेस नगराध्यक्ष हरीबाबू शर्मा ने गंभीर आरोप लगाते हुये बताया कि नगर पालिका अध्यक्ष ने सभी नियम-कायदों को ताक पर रखकर अपने एक करीबी रिश्तेदार शिवम साहू नामक व्यक्ति को आउट सोर्सिंग का ठेका दे दिया है। बताया कि निमयानुसार 60 प्रतिशत अनुभव के आधार पर ‘ए’ क्लास का रजिस्ट्रेशन किया जाता है। परन्तु उक्त ठेकेदार को केबल रिश्तेदारी की योग्यता के आधार पर सीधे ‘ए’ क्लास का रजिस्ट्रेशन करके ढ़ाई करोड़ के काम दे दिये गये। बताया कि उक्त ठेकेदार का पिछला कोई भी कार्य करने का अनुभव भी नहीं है। इसके अलावा उन्होंने बताया कि नगर पालिका परिषद द्वारा विद्युत व्यवस्था परिचालन के लिए एक प्राईवेट कम्पनी को आउट सोर्सिंग ठेका दे रखा है, जिसमें पूरा बिजली का काम तो नगर पालिका परिषद के कर्मचारी करते हैं जबकि कम्पनी का कोई कर्मचारी शहर में नहीं है। ऐसे में जनता की गाढ़ी कमाई का पैसा सीधे तौर पर उक्त प्राईवेट कम्पनी को दिया जा रहा है। इसमें कांग्रेसियों ने बड़े भ्रष्टाचार की आशंका व्यक्त की है।

कांग्रेसियों ने नपाध्यक्ष एवं कम्पनी की सांठगांठ की संभावना व्यक्त करते हुये प्राईवेट कम्पनी को आउट सोर्सिंग का ठेका देना औचित्यहीन बताते हुये उक्त ठेका तत्काल निरस्त किये जाने की मांग उठायी है। इसके अलावा वर्तमान में सुम्मेरा तालाब पर नपाध्यक्ष व पार्षदों की मिलीभगत से जीर्णोंद्धार के नाम पर भ्रष्टाचार करने का आरोप भी लगाया गया है। बताया कि बिना किसी कार्ययोजना को तैयार किये यह काम शुरू किया गया है। बताया कि तालाब का गहरीकरण कराने के लिए मिट्टी उठान के नाम पर 300 रुपये ट्रैक्टर व 1600 रुपये प्रति डम्फर मिट्टी बेची जा रही है। सुम्मेरा तालाब में पार्क बनाये जाने पर भी कांग्रेसियों ने सवाल उठाते हुये बिना किसी कार्ययोजना के तालाब में तालाब बनाने की बात को समझ से परे बताया। नगर कांग्रेस ने जिलाधिकारी से उक्त मामलों में निष्पक्ष जांच कर ठोस कार्यवाही किये जाने की मांग उठाते हुये अन्यथा की स्थिति में उग्र आंदोलन व धरना प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है।

ज्ञापन देते समय नगर कांग्रेस अध्यक्ष हरीबाबू शर्मा, अजय प्रताप सिंह तोमर, मुहम्मद जलील, समद खान, नदीम शबनम, प्रेमशंकर गुप्ता, सोनू तिवारी, कृष्णकान्त, मु.आसिफ सहित अनेकों कांग्रेसी मौजूद रहे।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें