< जीआरपी थानाध्यक्ष का प्रयास प्रवीण गुप्ता को बना वरदान Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News शताब्दी एक्सप्रेस में खोया हुआ बैग व सामान वापस मिला

जीआरपी थानाध्यक्ष का प्रयास प्रवीण गुप्ता को बना वरदान

शताब्दी एक्सप्रेस में खोया हुआ बैग व सामान वापस मिला

जीआरपी थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह के अथक प्रयासों से शताब्दी एक्सप्रेस के कोच सी-12 की बर्थ संख्या 34 में रेलवे स्टेशन की प्लेटफार्म ड्यूटी में तैनात आरक्षी 312 शफीक अहमद को एक लावारिश बैग मिला। बैग में लगभग 2,90,000 (दो लाख नब्बे हजार रुपया) का सामान इत्यादि रखा था। जिसे उसके स्वामी को तलाश कर सुपुर्द कर एक पुनीत कार्य किया गया।

बताया गया है कि रेलवे स्टेशन में प्लेटफार्म ड्यूटी में तैनात आरक्षी 312 शफीक अहमद को 22 मई को शताब्दी एक्सप्रेस के कोच सी-12 की बर्थ संख्या 34 में किसी यात्री का बैग लावारिश हालत में मिला। उक्त आरक्षी बैग थाना लेकर आया, जिसकी तलाशी लेने पर उक्त बैग में एक अदद दूरबीन, 4000 रुपया विदेशी मुद्रा, एक पावर बैंक, एक चार्जर मोबाइल, एक ब्लूटूथ इयरफोन सैमसंग व एक पासपोर्ट धीरेन्द्र यादव पुत्र के.एल. यादव निवासी मकान नम्बर 12 बीडीए कालोनी ई-8  ईश्वर नगर गुलमोहर मार्ग भोपाल हुजूर भोपाल म.प्र.462039 प्राप्त हुआ।

प्राप्त पासपोर्ट के आधार पर उक्त यात्री से सम्पर्क करने का प्रयास किया गया परन्तु सम्पर्क नही हो सका। थानाध्यक्ष जीआरपी संजय कुमार सिंह द्वारा मय आरक्षी मो.अब्दुल समद के उक्त ट्रेन के अगले सभी ठहराव के स्टेशनों पर एक अदद हैण्ड बैग लेदर ब्राउन कलर जिसमें पासपोर्ट प्रवीण गुप्ता प्राप्त होने के सम्बन्ध में सूचना का प्रसारण कराया गया। साथ ही साथ उक्त ट्रेन के ठहराव के समस्त जीआरपी व आरपीएफ को इस सम्बन्ध में जानकारी प्रदान की गयी। बैग के स्वामी की तलाश हेतु अन्य संसाधनो का उपयोग किया गया। काफी जद्दोजहद के बाद उक्त बैग के स्वामी धीरेन्द्र यादव से सम्पर्क हो सका। उन्होने बताया कि वह 22 मई 2018 को ट्रेन क्रमांक 12002 शताब्दी एक्सप्रेस दिल्ली से हबीबगंज की यात्रा कर रहा था और हबीबगंज स्टेशन पर उतरते समय अपना एक हैंडबैग लैदर का ब्राउन कलर का बोगी क्रमांक सी-12 बर्थ नं.34 पर भूल गया। बाद में याद आने पर मै परेशान हो गया तथा बैग को काफी तलाश किया परन्तु नही मिला। थक हार कर मै बैग गुम हो जाने की शिकायत दर्ज कराने स्टेशन आया था। तभी ज्ञात हुआ कि जीआरपी द्वारा मेरा खोया हुआ बैग बरामद कर लिया गया। जीआरपी ललितपुर द्वारा मेरे खोये हुए बैग व मुझे तलाश करने की इस कार्यवाही की भूरि-भूरि प्रशंसा की।

प्रवीण गुप्ता ने बताया कि उन्हें उम्मीद नही थी कि मैं अब अपना बैग कभी पा सकूंगा। बैग के स्वामी से हुई दूरभाष से वार्ता के क्रम में व उनके द्वारा भेजे गये प्रतिनिधि प्रवीण गुप्ता के थाना हाजा उपस्थित आने व बैग स्वामी के लिखित प्रार्थना पत्र के आधार पर उक्त बैग व उसमें रखा समस्त सामान सुपुर्द किया गया। जीआरपी पुलिस के अथक प्रयासों के परिणामस्वरुप लावारिश हालत में प्राप्त बैग उसके मालिक के पास भेजकर एक पुनीत कार्य किया गया। इस सराहनीय कार्य को अंजाम देने में जीआरपी थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह, आरक्षी शफीक अहमद, मो.अब्दुल समद आदि शामिल रहे।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें