< सूरज से निकलने वाली तपिश दोपहर होते ही आग में तब्दील Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News गर्मी चरम पर होती जा रही है। बुधवार को पारा 47 डिग"/>

सूरज से निकलने वाली तपिश दोपहर होते ही आग में तब्दील

गर्मी चरम पर होती जा रही है। बुधवार को पारा 47 डिग्री सेल्सियस पर

गर्मी चरम पर होती जा रही है। बुधवार को पारा 47 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। सुबह होते ही सूरज से निकलने वाली तपिश दोपहर होते ही आग में तब्दील हो जाती है। जरूरी काम होने पर ही लोग घर से बाहर निकलना मुनासिब समझ रहे हैं। निकलना होता है तो सिर से लेकर मुंह तक अंगौछा लिपटा नजर आता है। दोपहर होते-होते सड़कों पर सन्नाटा पसर जाता है। हाट-बाजार सूने हो जाते हैं। पारा रोज ही चढ़ रहा है। जिसका असर आम लोगों पर भीषण रूप से पड़ रहा है। रोज खाने-कमाने वालों के सामने बड़ा संकट खड़ा हो गया है।

सुबह से पड़ने वाली तीखी तपिश लोगों को बेहाल किए है। घर के लोग बच्चों को एक तरह से अंदर ही कैद हुए हैं, बाहर निकलने की मनाही है। सबसे ज्यादा दिक्कत कामकाजी महिलाओं और मजदूरों को उठानी पड़ रही है। मजबूरी में बाहर निकलना ही पड़ रहा है। ऐसे लोग तौलिया या गमछा से पूरी तरह खुद को ढककर ही निकल रहे हैं। गर्मी का असर व्यापार पर भी पड़ रहा है। सुबह से ही दुकानदार ग्राहक के इंतजार में रहते हैं। दोपहर होते-होते वीरानी बढ़ने लगती है। हालत यह हो जाती है कि धूप व गर्म हवा से बचाओ के लिए दुकान के आधे शटर गिराना मजबूरी बन जाती है। शाम को भी कोई राहत मिलती नजर आती है, जिसका नतीजा व्यापार पर पड़ रहा है।

कारोबारी बताते हैं कि खरीदारों का टोटा पड़ा हुआ है। बोहनी तक की नौबत नहीं आती है। शाम ढलने के बाद ही लोग खरीदारी को आ रहे हैं।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें