< अन्तर्राष्ट्र्ीय योग दिवस के लिये चित्रकूट की संस्थायें एकजुट Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सदप्रयासों से दुनिया भर में 21 जून"/>

अन्तर्राष्ट्र्ीय योग दिवस के लिये चित्रकूट की संस्थायें एकजुट

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सदप्रयासों से दुनिया भर में 21 जून,2018 को मनाये जाने वाले अन्र्तराष्ट्र्ीय योग दिवस की तैयारियां चित्रकूट में प्रारम्भ कर दी गयी हैं। मा. कुलपति प्रो. नरेशचन्द्र गौतम के आमंत्रण पर आज महात्मा गाॅंधी चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय के नवनिर्मित आधुनिक रजत जयंती भवन में दीनदयाल शोध संस्थान के संगठन सचिव डा. अभय महाजन की अध्यक्षता में चित्रकूट की सभी सरकारी-गैर सरकारी संस्थाओं, संत महात्माओं, प्रमुख नागरिकों, मठ-अखाडों के महंतो, आश्रमों,धर्मशालाओं के प्रमुखों की सहभागिता के मध्य संपन्न हुई। बैठक में दीनदयाल शोध संस्थान के संगठन सचिव डाॅ0 अभय महाजन ने प्रस्ताव रखा कि 21 जून 2018 को आयोजित होने वाले अन्तर्राष्ट्र्ीय योग दिवस का सामूहिक कार्यक्रम को सुरेन्द्रपाल ग्रामोदय विद्यालय के खेल मैदान में सम्पन्न किया जाय, जिसपर सभी सहभागी पदाधिकारियों एवं प्रमुखों ने सर्वसम्मति से इस प्रस्ताव को स्वीकार किया तथा निर्णय हुआ कि 21 जून 2018 को चित्रकूट में सम्पन्न होने वाला  अन्तर्राष्ट्र्ीय योग दिवस का कार्यक्रम भब्य एवं समारोह पूर्वक सुरेन्द्रपाल ग्रामोदय के खेल मैदान में सम्पन्न होगा। इस अवसर पर केन्द्र सरकार द्वारा अन्तर्राष्ट्रªªीय  योग दिवस के लिए निर्धारित प्रेाटोकाल पर चर्चा हुई एवं सुनिश्चित किया कि शासकीय प्रोटोकाल के अनुसार ही चित्रकूट के सामूहिम कार्यक्रम सम्पन्न किये जाये।

ज्ञातब्य हो कि चित्रकूट राष्टऋषि नाना जी देशमुख की कार्यस्थली है। नानाजी ने विकास के अनेक प्रादर्श चित्रकूट में खडे कर देश के राजनीतिज्ञों ,विकासकर्ताओं और शासकीय संस्थाओं को चिन्तन करने और चित्रकूट आने के लिए प्रेरित किया है। नानाजी ने चित्रकूट में दीनदयाल शोध संस्थान के माध्यम से अनेक प्रकल्प स्थापित किये है।

अपने लिए नहीं अपनों के लिए  जीने की नानाजी की ब्यवहारिक कल्पना का वटबृक्ष इस समय चित्रकूट मंे हरा-भरा है। दीनदयाल शोध संस्थान के संगठन सचिव डाॅ0 अभय महाजन के एक अभिनव प्रयोग कर अन्तर्राष्ट्र्ीय योग दिवस के माध्यम से चित्रकूट की सभी संस्थाओं को एक करने का कार्य किया है। इसका प्रारम्भ महात्मा गांधी चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय में आयोजित प्रथम अन्तर्राष्ट्र्ीय येाग दिवस से हुआ। दूसरा अन्तर्राष्ट्र्ीय योग दिवस कार्यक्रम श्री सद्गुरू सेवा संघ ट्र्स्ट जानकीकुण्ड में किया गया। तीसरा आयोजन सुरेन्द्रपाल ग्रामोदय विद्यालय में होगा।

तीसरे आयेाजन के मुखिया एवं दीनदयाल शोध संस्थान के संगठन सचिव डा0 अभय महाजन ने बताया कि दिनांक 21.06.2018 को सम्पन्न मुख्य कार्यक्रम में पूर्व विगत वर्षाें की भांति विभिन्न स्थानों में प्रातःकालीन दैनिक योग शिविर सम्पन्न किये जायेंगे। विगत वर्ष संचालित 12 दैनिक योग शिवरों के स्थान पर इस बार बढाकर 13 दैनिक योग शिवर सम्पन्न किये जायेंगे। नवीन दैनिक योग शिविर श्री रामघाट सीतापुर में सत्संग भवन में महन्त दिब्य जीवनदास के नेतृत्व में संचालित किया जायेगा।

श्री अभय महाजन ने बताया कि दैनिक शिविर 09 जून 2018 से 20 जून 2018 तक संचालित किये जायेगे। इस हेतु प्रातः 6 बजे से 7 बजे तक का समय निर्धारित किया गया है। दैनिक शिविर पूर्व वर्षो के अनुसार महात्मा गाॅंधी चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय, उद्यमिता विद्यापीठ, आरोग्य धाम, जानकी महल, रामायणी कुटी, वनवासी राममंदिर, संतोषी अखाडा, गायत्री शक्ति पीठ, रामनाथ आश्रमशाला, प्रमोदवन, श्री सदगुरू सेवा संघ ट्रस्ट ,श्री कामतानाथ प्रमुखद्वार, संत्संग भवन, रामघाट में संचालित किये जायेंगे। इन दैनिक शिविरों के योग प्रशिक्षकों का तीन दिवसीय प्रशिक्षण एवं उन्मुखीकरण कार्यक्रम आरोग्यधाम परिसर में 05 जून से 08 जून 2018 के मध्य प्रातः 06 बजे से 07 बजे तक संपन्न होगा। इस अवसर पर श्री भरत मंदिर के महन्त श्री दिव्य जीवन दास जी महराज ने कहा कि योग मानव के अन्दर छिपी हुई शक्ति को प्रकाशित करने का कार्य करती है। योग हमे संस्कृति और आध्यात्म की ओर आकृष्ट कर हमारा सर्वांगीण विकास करती है। श्री कामदगिरि परिक्रमा प्रमुख द्वार के अधिकारी महंत मदनदास जी महाराज ने कहा कि योग मानव जीवन की स्वाभाविक प्रक्रिया है। इसे दिनचर्या में शामिल किया जाना चाहिये। उन्होने कहा कि योगाभ्यास को अपने जीवन में अपना कर हम स्वस्थ्य एवं सजग रह सकते हैं। बयोवृद्व समाजसेवी रामाश्रय सोनी ने कहा कि योग गतिविधियों का ज्यादा से ज्यादा प्रचार करना चाहिये। कुलपति प्रो. नरेश चन्द्र गौतम ने योग को स्वस्थ जीवन का प्रमुख आयाम बताया तथा कहा कि ज्ञानवर्धक शब्दों एवं उर्जावान मंत्रों के उच्चारणों की रिकार्डिगं कर उन्हे जनमानस को श्रवण कराना चाहिये। संगठन सचिव अभय महाजन ने कहा कि योग हमारा सामाजिक और नैतिक दायित्व है। हमें इसके आयोजन से प्रत्यक्ष रूप से जुडकर योग कार्यक्रम में शामिल होना चाहिये।

इस दौरान कुलपति प्रो0 नरेश चन्द्र गौतम ने योग शब्द के स्थान पर योगा शब्द के प्रचलन को कलेकर चिंता ब्यक्त करते हुए कहा कि योगा कोई शब्द नहीं है बल्कि योग शब्द है अतः योगा शब्द के बढते प्रचलन को रोकना चाहिए। प्रेा0 गौतम ने बताया कि उन्होने बताया कि इस शाब्दिक त्रुटि के लिये मैने केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार को लिखा भी है। कुलपति द्वारा उठाये गये इस शाब्दिक त्रुटि के प्रति लोगों का ध्यान आकर्षण के लिए उपस्थितजनांे ने कुलपति प्रो0 गौतम का आभार ब्यक्त किया तथा कहा कि शासकीय स्तर पर इस त्रुटि का सुधार करना चाहिए।

तैयारी बैठक के इस अवसर पर संत राजीवलोचन दास, ओमपाल सिंह मुख्य नगर पालिका अधिकारी,नगर पंचायत चित्रकूट हरिराम सोनी,राजू नागा महाराज,मदन कुमार तिवारी,राजेन्द्र प्रसाद मिश्रा,डा. धर्मेन्द शर्मा,मनोज सैनी,राकेश पाण्डेय, रामशरण शास्त्री,राजेश त्रिपाठी,विनीत श्रीवास्तव, संतोष कुमार मिश्रा, अनिल जयसवाल, बनारसी लाल (शशीकान्त) अनिल कुमार मिश्रा डा. रामनरायण त्रिपाठी, डा. विजय प्रताप सिंह, राजाराम ठेकेदार, सतीश मालवीय आदि सहित ग्रामोदय विश्वविद्यालय के प्राघ्यापक एवं अधिकारी सम्मिलित रहे। कार्यक्रम का संयोजन डा. देवप्रभाकर राय एवं डा. जयप्रकाश तिवारी ने किया।

About the Reporter

  • राजकुमार याज्ञिक

    चित्रकूट जनपद के ब्यूरो चीफ एवं भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के जिलाध्यक्ष राजकुमार याज्ञिक चित्रकूट जनपद के एक वरिष्ठ पत्रकार हैं। पत्रकारिता में स्नातक श्री याज्ञिक मुख्यतः सामाजिक व राजनीतिक मुद्दों पर अपनी गहरी पकड़ रखते हैं।, .

अन्य खबर

चर्चित खबरें