< बिकने जा रही लड़की को बचाया, जीआरपी ने किया बरामद Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News 15 हजार में हुआ था सौदा

उत्तर मध्य रेलवे"/>

बिकने जा रही लड़की को बचाया, जीआरपी ने किया बरामद

15 हजार में हुआ था सौदा

उत्तर मध्य रेलवे के स्टेशन पर एक मानव तस्करी का मामला सामने आया है। जिसमें आरपीएफ और जीआरपी ने दिल्ली में बिकने जा रही एक नाबालिग लड़की को बरामद कर लिया। इसके साथ ही लड़की को बेचने वाली महिला और खरीदने वाले दम्पति को भी पकड़ने में सफलता हासिल की है। आरपीएफ और जीआरपी ने पकड़े गये लोगों से पूछतांछ शुरु कर दी। वहीं लड़की के परिजनों से सम्पर्क कर अवगत कराया।

ऐसे बरामद हुई लड़की

रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ और जीआरपी सुरक्षा व्यवस्था के लिए गश्त कर रहे थे। इसी दौरान प्लेटफार्म क्रमांक 1 पर एक लड़की और महिला संदिग्ध नजर आये। आरपीएफ और जीआरपी ने दोनों से पूछतांछ की तो मामला मानव तस्करी से जुड़ा निकला। आरपीएफ दोनों को थाने ले आई। जहां पूछतांछ की गई। लड़की ने पूछतांछ में अपना नाम चौबे पुत्री लीलाधर निवासी पंचशील नगर थाना बोहरापुर ग्वालियर बताया। वहीं महिला ने अपना किरन निवासी ललितपुर बताया।

यह सुनाई दर्दभरी कहानी

लड़की के अनुसार पकड़ी गई महिला द्वारा फरवरी माह में उसको बेहोश कर अपहरण किया था। अपहरण कर उसे तमिलनाड़ु ले जाया गया था। जहां से किसी प्रकार वह उनके चंगुल से बचकर निकली और दिल्ली पहुंच गई थी। जिसे उसे कुछ दिन अनाथ आश्रम में रखा गया था। जहां से परिजन उसे लेकर घर आ गये थे। अभी 11 मई की शाम को वह कान की बाली लेने के लिए घर से बाजार गई थी। जहां उसे पकड़ी गई महिला नजर आई, जिसे देख उसके खिलाफ सबूत एकत्रित करने के लिए उसने महिला के पास जाकर कहा कि उसका घर में झगड़ा हो गया और वह भाग आई है। यह सुनते ही उक्त महिला उसे अपने साथ ललितपुर ले गई जहां उसने कहा कि वह उसकी शादी करा देगी। विगत दिवस उसे पता चला कि उसे बेचा जा रहा है। जिसके लिए उसका 15 हजार रुपए में सौदा हो गया है। रंगेहाथ पकड़वाने के लिए वह उसके साथ रेलवे स्टेशन आ गई औरं आरपीएफ की मदद उस महिला को पकड़वाने में वह सफल हो गई।

ऐसे आये पकड़ में आये खरीदने वाले

आरपीएफ पोस्ट प्रभारी ने बताया कि लड़की की कहानी सुनने के बाद लड़की को खरीदने वालों को में रेलवे स्टेशन बुलाया गया। जहां पुलिस को देख वह भाग गये। इसके बाद किसी प्रकार फिर सम्पर्क किया गया और लड़की को ग्वालियर में देने की बात हुई। ग्वालियर पहुंचने पर लड़की को उसके पास भेजा गया। जैसे ही लड़की को खरीदने वालों ने पकड़ा घेरकर उन्हें पकड़ लिया। खरीदने वालों में एक महिला और पुरुष शामिल है। जिनसे पूछतांछ की जा रही है।

टीम में यह रहे शामिल

बिकने जा रही लड़की को बचाने वाली टीम में आरपीएफ थाना प्रभारी अशोक यादव, और जीआरपी थाना प्रभारी अजीत कुमार व आरपीएफ उपनिरीक्षक धनेन्द्र सिंह, महिला सिपाही पिंकी यादव, सिपाही अब्दुल आरिफ, जगमोहन, धीरज तिवारी और राजकुमार शामिल हैं।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें