< हरे सोने से मजदूरो की पेट की आग होती है शान्त Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News पेट की आग शान्त करने के लिए हरा सोना के नाम से मशहूर तेन्दू पत्ता "/>

हरे सोने से मजदूरो की पेट की आग होती है शान्त

पेट की आग शान्त करने के लिए हरा सोना के नाम से मशहूर तेन्दू पत्ता की तोडा़न के लिए मजदूर जान जोखिम मे डालकर जंगल मे जाता है। जहां पत्ता तोड़कर बीड़ी बनाता है। इस दौरान ठेकेदार की घुड़की और डकैतो की मार भी सहन करते है।

बुन्देलखण्ड मे तेन्दूपत्ता डकैतो के लिए हरा सोना है। डकैतो की मर्जी के बिना तेन्दू पत्ता की जंगल मे तुडा़ई नही की जा सकती है। डकैत ठेकेदारो या वनविभाग से अच्छा खासा कमीशन लेने के बाद ही तेन्दू पत्ता की तुड़ान करने देते है यदि बिना अनुमति के मजदूर तेन्दू पत्ता तोड़ने जाते है तो उन्हें डकैतो से लात जूतों की सौगात मिलती है। तेन्दू पत्ता अमीरो के लिए सिगार के धुएं के काम आता है तो गरीबो की बीड़ी के धुएं के काम आता है। हर साल मई और जून के महीने मे जंगल मे लगे पेड़ो से तेन्दू पत्तो की तुड़ान होती है। इसके लिए डकैत कई तरह से तैयारी बनाते है ताकि ठेकेदारो पर दबाव बनाकर अपनी कमीशन की रकम हासिल कर सके। वही इसी पत्तो के सहारे गरीब मजदूर अपने पेट की आग को ठंडा करता है।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें