< डीएम ने किया आवास व शौचालयों का निरीक्षण Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News मनरेगा में संतोषजनक उत्तर न मिलने पर स्पष्टीकरण तलब

डीएम ने किया आवास व शौचालयों का निरीक्षण

मनरेगा में संतोषजनक उत्तर न मिलने पर स्पष्टीकरण तलब

चौपाल लगाकर सुनी लोगों की समस्यायें

जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने विकास खण्ड जखौरा में प्रधानमंत्री आवास योजना से निर्मित आवास के साथ स्वच्छ भारत अभियान के निर्मित शौचालयों का निरीक्षण किया। डीएम ने रतीराम, राकेश, नत्थु, गुलाब के आवासों को देखा, जो निर्माणाधीन स्थिति में पाये गये। श्रीपथ व निरपत के शौचालयों को निर्माणाधीन स्थिति में पाया। डीएम ने इस पर नाराजगी व्यक्त कर सम्बंधित अधिकारी को कार्य शीघ्रता से पूर्ण करने के निर्देश दिये।

डीएम की अध्यक्षता में मनगुवां के पूर्व माध्यमिक विद्यालय में जन चौपाल लगायी गयी। डीएम ने विद्यालय परिसर में विभिन्न विभागों द्वारा लगाये गये कैम्पों का निरीक्षण कर विभागवार समीक्षा की। सबसे पहले विद्युत विभाग की समीक्षा में बताया गया कि सम्पूर्ण ग्राम विद्युतीकृत है। लगभग 14 से 15 घण्टे बिजली आती है। 140 परिवारों को विद्युत कनेक्शन दिये गये। डीएम ने गांव में कैम्प लगाकर कनेक्शन देने के निर्देश दिये। कहा कि एक सप्ताह की अवधि के भीतर ग्रामीणों की विद्युत से सम्बंधित सभी समस्याओं का निस्तारण करें। स्थापित हैण्डपम्पों को लेकर बताया कि ग्राम में कुल 32 हैण्डपम्प हैं, जिनमें से 23 हैण्डपम्प क्रियाशील हैं तथा शेष 06 हैण्डपम्प रीबोर कराये जा चुके हैं, जिनकी फिटिंग जारी है। 02 हैण्डपम्पों का जल स्तर कम है तथा 01 हैण्डपम्प पूर्ण रूप से निष्क्रिय है। स्वच्छ शौचालय निर्माण की समीक्षा में सम्बंधित अधिकारी द्वारा बताया गया कि अभी तक 110 शौचालयों का लक्ष्य प्राप्त है, जिनमें से 52 शौचालयों का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत कुल 22 आवास स्वीकृत हैं तथा सभी आवास निर्माणाधीन स्थिति में हैं। मनरेगा योजना के तहत 90 दिन से अधिक कार्य करने वाले श्रमिकों के बारे में पूछा, इस पर संतोषजनक उत्तर न दिये जाने पर डीपीओ, बीडीओ जखौरा तथा पंचायत सचिव का स्पष्टीकरण तलब किया। महिला एवं बाल विकास विभाग की समीक्षा में बताया ग्राम में एक आंगनबाड़ी केन्द्र प्राथमिक विद्यालय में लक्ष्मीदेवी द्वारा संचालित है।

सार्वजनिक वितरण प्रणाली में बताया गया कि रामविलास खाद्यान्न का वितरण करते हैं, ग्राम में 182 पात्र गृहस्थी कार्डधारक तथा 70 अन्त्योदय कार्डधारक हैं। डीएम ने बताया कि मुख्यमंत्री के सख्त आदेश हैं कि पात्र अन्त्योदय कार्डधारकों को नियमित रूप से खाद्यान्न सामग्री वितरित करायी जाये। पेंशन योजनाओं की समीक्षा में ग्राम में वृद्धावस्था पेंशन के 19 लाभार्थी, विधवा पेंशन की 01 लाभार्थी तथा विकलांग पेंशन के 02 लाभार्थी बताये गये। चौपाल में एन.आर.एल.एम. योजनान्तर्गत गठित स्वयं सहायता समूहों का विवरण प्रस्तुत किया गया, जिसमें बताया गया कि ग्राम में 06 स्वयं सहायता समूह संचालित है, जिनके तहत कुल 64 सदस्य कार्य कर रहे हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.प्रताप सिंह ने चिकित्सा विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के बारे में ग्रामीणों को जानकारी दी।

जिलाधिकारी ने ग्रामीणों से पूछा कि उन्हें गेंहू बेचने में कोई असुविधा तो नहीं हो रही तथा उनसे कोई सुविधा शुक्ल तो नहीं लिया जाता, जिस पर ग्रामीणों ने बताया कि उन्हें गेंहू बेचने में कोई परेशानी नहीं हो रही है तथा उनसे किसी प्रकार का कोई शुल्क नहीं लिया जाता है। इस दौरान सीएमओ डा.प्रताप सिंह, प्रभारी सीडीओ बलिराम वर्मा, एसडीएम सदर महेश प्रसाद दीक्षित, डीडीओ देवेन्द्र प्रताप, डीडी कृषि संतोष कुमार सविता, प्रोबेशन अधिकारी सुरेन्द्र कुमार पटेल समेत ग्राम प्रधान एवं ग्रामीण उपस्थित रहे।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें