< फिर खून से लाल हुये एन कोलांची की पुलिस के हाथ Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News एक माह में दरोगा और सिपाहियों पर दूसरी हत्या का आरोप

फिर खून से लाल हुये एन कोलांची की पुलिस के हाथ

एक माह में दरोगा और सिपाहियों पर दूसरी हत्या का आरोप

कहा गया पुलिस का माननीय चेहरा

थाने में हुई निमर्म पिटाई से अधेड की मौत

पुलिस के मानवीय पक्ष का पाठ पढाने वाले जिले के एसपी एनकोलांची की पुलिस के हाथ अब निर्दोशों के खून से रंग रहे है। अभी अप्रेल के आखिरी सप्ताह में कुलपहाड पुलिस द्वारा एक महिला को टैक्टर से कुचलकर मार डालने की चर्चायें थमी भी नही थी कि अजनर पुलिस के दरोगा व सिपाहियों ने शराब का अवैध व्यापार करने वाले एक अधेड को थाने में इस कदर पीटा कि उसकी मौत हो गई। परिजनों ने तहसील दिवस में दरखास दे धवर्रा चैकी के उपनिरीक्षक व सिपाहियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।

एक ओर प्रदेश सरकार व जिले की पुलिस के मुखिया एसपी एन कोलांची पुलिस के मानवीय पक्ष को उभार मित्र पुलिस बनाने का दावा कर रहे है वही अवैध कमाई के चक्कर में पुलिस कर्मी इतने बेलगाम होते जा रहे है कि आये दिन दरोगा व सिपाहियों के हाथ निर्दोशों के खून से लाल हो रहे है। हालिया घटना अजनर थाने के कैथौरा गांव की है। जहां 11 मई की रात्रि 8 अजनर थाने के धवर्रा चैकी के इंचार्ज उपनिरीक्षक सुनील तिवारी सिपाही बलजीत सिंह, जीतू व अन्य दो लेागों ने गांव के ही कट्टू के घर में घुसकर न केवल उसकी पत्नी के साथ छेडछाड की अपितु घर में रखे 15 हजार रुपये भी लूट लिये। कट्टू ने विरोध किया तो दरोगा व सिपासही उस पर शराब की अवैध बिक्री करने का आरोप लगा सबक सिखाने की धमकी दे अपने साथ थाने ले गये। यहां बांधकर उसे निर्मम पिटाई की गई। बेतहासा पिटाई से कट्टू को अंदरूनी चोटे आई जिसके चलते उसकी नाक कान व मुंह के साथ ही गुप्तांगों से भी खून आने लगा। हालत गम्भीर देख दरोगा सुनील तिवारी ने गांव में फोन कर कट्टू के भ्ज्ञतीजे महाराज सिंह तथा बेटे ताहिर सिंह व गांव के ही महेन्द्र सिंह को बुला कर उसे निजी मुचलके पर छोड उपचार कराने के लिये प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भेजा जहां चिकित्सकों ने देखते ही हालत नाजुक बता कट्टू को जिला असपताल ले जाने की सलाह दी।

जिला असपताल में भी चिकित्सकों ने गम्भीर स्थिति देख उपचार कर पाने में हाथ खडे कर दिये और तुरन्त मेडीकल कालेज ले जाने को रिफर स्लिप थमा दी। मेडीकल कालेज झांसी में इलाज के बाद भी कट्टू की हालत नही सुधरी तो परिजन उसे ग्वालियर ले गये। जहां 14 मई की रात उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। मंगलवार को परिजन शव लेकर वापिस गांव आये और कुलपहाड में डीएम की अध्यक्षता में आयोजित सम्मूपर्ण समाधान दिवस में आरोपी दरोगा व सिपाहियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने को तहरीर दी। पुलिस अभिरक्षा में पिटाई के कारण हुई मौत का मामला सामने आते ही मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारियों व थाने के प्रभारी निरीक्षक के हाथ पैर फूल गये। फिलहाल मुकदमा तो दर्ज नही किया गया है परन्तु एसपी ने प्रकरण की बारीकी से जांच करा दोषी कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने का भरोसा अवश्य दिया है। गौरतलब है कि  कुलपहाड थाने के दरोगा व सिपाहियों ने बालू के अवैध खनन की वसूली के दौरान अजनर थाने के अकौनी गांव जबराना टेक्टर ले जाने के प्रयास में अवैध खनन के आरोपी रामस्वरुप की पत्नी चन्द्रकली पर टेक्टर चढा उसकी हत्या कर दी थी। ताजा मामले में पुलिस की यह कहानी मान भी ले की कट्टू अवैध शराब की विक्री का कारोबार करता था तो भी क्या उसको इस तरह पीटा जाना चाहिये कि उसकी मौत ही हो जाये। देखना है पुलिस की छबि सुधारने का दावा करने वाले एसपी एनकोलांची पुलिस कर्मियों द्वारा की गई हत्या के इस मामले में क्या कार्यवाही करते हैं।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें