< नियमों को ताक में रख करवाया जा रहा अवैध खनन Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News किसानों के खेतों से भी निकाल रहे बालू

नियम व"/>

नियमों को ताक में रख करवाया जा रहा अवैध खनन

किसानों के खेतों से भी निकाल रहे बालू

नियम विरूद्ध पोकलैण्व जेसीबी मशीनों द्वारा हो रहा खनन

बालू माफियाओं द्वारा सारे नियम कानून ताक में रख कर खनन करवाया जा रहा है। क्षेत्र के वर्मा नदी, क्योलारी तथा धसान नदी निकलती है। जिससे यहां भारी पैमाने पर अवैध खनन किया जाता है। पट्टा हो जाने के बाद बालू माफिया नियम विरुद्व खनन करवा रहे है। वह जेसीबी मशीनों से खुदाई करवा किसानों के खेतों से भी बालू निकालने लगे है। जिससे आये दिन किसानों व बालू माफियाओं में नोकझोक होती रहती है। जिससे किसी दिन कोई बडी घटना घट सकती है।

बता दे कि दबंग बालू माफिया बालू ठेका की आड़ की में बालू के अबैध खनन के गोरख धन्धे को खनिज विभाग व सरकार के नियमों को ताक पर रख कर युद्ध स्तर पर  अन्जाम दिया जा रहा है। कस्बा क्षेत्र में तीन नदियां बर्मा नदी, क्योलारी व धसान निकली हुई हैं और तीनो में खनिज सम्पदा बालू का अपार भण्डार है। जिनमें से पूर्व में टेंण्डर के माध्यम से ठेके हुये थे। उनकी वैधता समाप्त होने के बाद भी इस समय वर्मा नदी में नौगांव फदना के पास पहाड़पुरा घाट का ठेका हुआ था। जो बालू के खनन के मानकों को ताक पर  रख कर पोपलैण्ड व जेसीबी मशीनों से खनन कर बिना एमएम 11 के युद्ध स्तर पर बालू का खनन किया जा रहा है। इससे विभाग को करोडों के राजस्व का चूना लगाया जा रहा है। सूत्रों की मानें तो ठेकेदार की हवस इतनी बड़ गयी कि नदी की बालू से जब वाहन नही भरता है तो वह नदी किनारे स्थित किसानों के खेतों से भी नौच नौच कर बालू निकाली जा रही। जिस पर किसानों की आये दिन ठेकेदार के गुर्गो से नोक झोंक होती है। ठैकेदार के गुर्गो द्वारा किसानों के खेतों का स्वरूप विगाड रकवे को नस्ट किया जा रहा है। जिससे किसानों में ठेकेदारों के किखलाफ भारी गुस्सा पनप रहा है। किसी दिन किसानों का गुस्सा फूटकर बड़े झगडे का रुप ले सकता है। इसलिये समाजसेवियों ने ठैकेदारों के खिलाफ जांच करा कार्यवाही कराये जाने की मांग की है।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें